गुमला | आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार” कार्यक्रम के तहत आज उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा ने सदर प्रखंड के वृंदा पंचायत में आयोजित पंचायतस्तरीय शिविर में सहभागिता की। शिविर के माध्यम से उन्होंने ग्रामीण जनता के व्यक्तिगत एवं सामूहिक समस्याओं के त्वरित निष्पादन हेतु संबंधित पदाधिकारियों को निर्देश दिए।

पंचायतस्तरीय शिविर में उपायुक्त ने “आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार” कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि 16 नवंबर से प्रारंभ हुए इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य जनता के व्यक्तिगत एवं सामूहिक समस्याओं को सुनते हुए उन्हें उनके अधिकारों की जानकारी प्रदान करना है। जनता को सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का सीधा लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से आज सरकार, जिला एवं प्रखंड प्रशासन जनता के द्वार तक पंचायतस्तरीय शिविरों के माध्यम से पहुंच रही है। इसके पीछे सरकार की यही मंशा है कि राज्य के वंचित तथा जरूरतमंद लोगों तक उनके अधिकारों को पहुंचाया जाए। इन अधिकारों के प्रति आपको जागरूक करने के लिए पंचायतस्तरीय शिविरों का आयोजन कर विभिन्न विभागों द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आपको दिया जा रहा है। उन्होंने विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी साझा करते हुए बताया कि कल्याण विभाग द्वारा संचालित चिकित्सा अनुदान योजना के तहत 10 हजार तक की सहायता राशि प्रदान की जाती है। इसी तरह छात्रवृत्ति योजनांतर्गत प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति हेतु जिले में अबतक लगभग 01 लाख विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति का लाभ दिलाया गया है। उन्होंने सभी ग्रमीणों से अपने-अपने बच्चों को भी छात्रवृत्ति का लाभ दिलाने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने सरकार की महत्वकांक्षी सोना सोबरन धोती/ साड़ी-लुंगी योजना की भी जानकारी दी। केसीसी की जानकारी साझा करते हुए कहा कि इस वित्तीय वर्ष लगभग 08 हजार किसानों को केसीसी का लाभ दिलाया गया है। इसके साथ ही उन्होंने ई-श्रम कार्ड निबंधन की जानकारी साझा करते हुए बताया कि असंगठित क्षेत्र के कामगारों को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ दिलाने हेतु ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन भी कराया जा रहा है। जिसमें असंगठित क्षेत्र के कामगार अपना निबंधन श्रम विभाग द्वारा लगाए गए स्टॉल पर जाकर कर सकते हैं। वहीं उन्होंने कृषकों को एकल फसल के स्थान पर बहु फसल को बढ़ावा दिए जाने पर बल दिया। उन्होंने ग्रामीणों से कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर शिविर में लगाए गए वैक्सिनेशन सह टेस्टिंग कैम्प में अपना टीकाकरण एवं जाँच सुनिश्चित करने हेतु प्रेरित किया।

शिविर में अपर समाहर्त्ता सह वरीय पदाधिकारी सदर प्रखंड ने कहा कि “आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार” कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी आमजनों तक पहुंचाना तथा उन्हें उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना है। गुमला जिला कृषि प्रधान जिला होने के नाते यहां की लगभग 90 प्रतिशत आबादी कृषक कार्यों पर ही निर्भर है। अतः जिले का विकास कृषि एवं शिक्षा के माध्यम से ही संभव है, और आने वाली पीढ़ी को उन्नत बनाने के लिए बच्चों का शिक्षित होना अति महत्वपूर्ण है। उन्होंने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि जबतक महिलाएं सशक्त नहीं होंगी तबतक समाज का विकास संभव नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने सर्वजन पेंशन योजना, बिरसा हरित ग्राम योजना, मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना, मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, ई-श्रम कार्ड आदि की विस्तृत जानकारी साझा की। उन्होंने झारखंड कृषि ऋण माफी योजना की जानकारी देते हुए बताया कि योजनांतर्गत गुमला जिले में अबतक लगभग 8500 किसानों से लगभग 32 करोड़ तक के ऋण की माफी की गई है। इसी तरह धान अधिप्राप्ति योजनांतर्गत लगभग 06 हजार नए किसानों का निबंधन कराया गया है। उन्होंने आमजनों को इन सभी योजनाओं का अधिकाधिक लाभ लेने हेतु प्रोत्साहित किया। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना संक्रमण के संभावित प्रसार को देखते हुए लोगों से टीकाकरण के दोनों डोज लगवाने की अपील की।

शिविर में वृंदा महुंआटोली निवासी सावित्री देवी ने मच्छरदानी उपलब्ध कराने की गुहार लगाई। वहीं वृंदा महुंआटोली निवासी यसुमती देवी ने राशन कार्ड संबंधी समस्या से उपायुक्त को अवगत कराते हुए त्वरित निष्पादन की गुहार लगाई। शिविर में वृंदा नवाटोली निवासी सुचेता देवी ने वृंदा नवाटोली में नाली निर्माण की गुहार लगाई। इसी प्रकार बंधुआ उराँव ने मनरेगा अंतर्गत कार्य करने के पश्चात् विगत अप्रैल एवं मई माह के मजदूरी भुगतान लंबित होने की शिकायत की। इसपर उपायुक्त ने प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को उक्त समस्या की जाँच करते हुए अगले दो से तीन दिनों के अंदर बंधुआ उराँव के लंबित राशि का भुगतान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

शिविर में प्रधानमंत्री आवास (ग्रामीण) योजनांतर्गत 04 लाभुकों वृंदा निवासी सोनो देवी, चरकाटांगर निवासी फगुवा बड़ाईक, महेश साहू तथा गोमिया उराँव के बीच स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया। इसके साथ ही आवास पूर्णता हेतु वृंदा निवासी अंधना खड़िया एवं तुलसी प्रधान के बीच स्वीकृति पत्र का वितरण किया गया। शिविर में उपायुक्त द्वारा 25 लाभुकों के बीच कंबल का वितरण किया गया।

आज आयोजित पंचायतस्तरीय शिविर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्टॉल लगाकर 50 लोगों को कोविड-19 टीकाकरण का प्रथम डोज तथा 89 लोगों को द्वितीय डोज दिलाया गया। साथ ही 105 लोगों का कोविड जाँच भी किया गया। शिविर में पेंशन योजनांतर्गत वृद्धा पेंशन के 35 तथा विधवा पेंशन के 32 आवेदन, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत 07, ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन हेतु 09, धान अधिप्राप्ति योजनांतर्गत 02, राशन कार्ड संबंधी 40 तथा पशुपालन संबंधी 14 आवेदन प्राप्त किए गए। आज के शिविर में वृंदा निवासी दिव्यांग चैतू उराँव को ट्राई साईकिल उपलब्ध कराया गया। साथ ही दो दिनों के अंदर राशन कार्ड तथा दिव्यांग पेंशन की स्वीकृति हेतु प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया गया।

शिविर में ग्रामीणों द्वारा वृंदा रोजगार सेवक के पंचायत सचिवालय के लिए निर्धारित कार्यदिवस (गुरूवार) पर कार्यालय में उपस्थित नहीं रहने की शिकायत की गई। इसपर उपायुक्त ने रोजगार सेवक छोटेलाल को फटकार लगाते हुए उनसे स्पष्टिकरण पूछने का निर्देश दिया। पंचायत सचिव को भी अपने कार्य पद्धति में सुधार लाने की चेतावनी दी गई।
पंचायतस्तरीय शिविर में उपायुक्त सहित अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, जिला पशुपालन पदाधिकारी डॉ.मोहम्मद कलाम, सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी सुकेशनी केरकेट्टा, सदर अंचलाधिकारी कुशलमय केनेथ मुण्डू, प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, ग्रामीण जनता, लाभुक व अन्य उपस्थित थे। शिविर का संचालन प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी गुमला द्वारा किया गया।