घटनाओं को रोकने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा अधिकारियों व कर्मियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन

लोहरदगा। घटनाओं को रोकने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा दिनांक 14.04.2022 से 20.04.2022 तक आयोजित किये जा रहे अग्निशमन सेवा सप्ताह” अंतर्गत जिले के अधिकारियों व कर्मियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित किया गया।
कार्यक्रम में फायर सेफ्टी ऑफिसर सुधीर सिंह के द्वारा बताया गया कि आग लगने का मुख्य कारण ज्वलनशील पदार्थ की उपलब्धता, ऑक्सीजन की मौजूदगी और उपयुक्त तापमान मुख्य कारक होते हैं। आग पर काबू पाने का तरीका है कि आग के पास का तापमान को कम किया जाय, ऑक्सीजन सप्लाई रोकी जाय और ज्वलनशील पदार्थ को वहां से तत्काल को हटाया जाय। आप अपने कार्यालय या घर में अग्निशामक के रूप में फर्स्ट एड यानी अग्निशमन यंत्रों का उपयोग कर सकते हैं। लिक्विड कार्बन डाइऑक्साइड, मैकेनिकल फोम (झाग), शुष्क रासायनिक पाउडर, एबीसी पाउडर और कार्बन डाइऑक्साइड का उपयोग आग बुझाने के लिए किया जाता है। आग लगने पर घर/ऑफिस मे बिजली की आपूर्ति रोक दें। आग घरेलू सिलिंडर में आग लगी है तो शुरुआती चरण में रेगुलेटर बंद किया जा सकता है।

कार्यक्रम में जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी विभाकर कुमार द्वारा भी अग्निशमन सेवा सप्ताह से संबंधित कार्यक्रम से अवगत कराया। साथ ही,कार्यक्रम में बताए गए तरीकों से आग की घटनाओं पर नियंत्रण पाने की जानकारी दी।

कार्यक्रम में जिला योजना पदाधिकारी अरुण सिंह, जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रवीण केरकेट्टा समेत अन्य कर्मिगण उपस्थित थे।

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published.