शिकारीपाड़ा दुमका | शिकारीपाड़ा प्रखंड के मलुटि पंचायत अंतर्गत छोटे से गांव धीनगर में चापाकल एवं जल मीनार खराब रहने के कारण लोगों को हो रही है पेयजल की किल्लत, ग्रामीण तालाब और मलूटी के कांदर के पानी पीने को है विवश, ग्रामीणों की मानें तो कई बार चापाकल एवं जल मीनार की मरम्मत को लेकर मुखिया ,पंचायत सचिव को इस बारे में सूचना दी है मगर इसके बदले सिर्फ आश्वासन ही मिला है जिस कारण ग्रामीणों में काफी नाराजगी देखी जा रही है और ग्रामीण जनप्रतिनिधियों एवं सरकारी कर्मचारियों के इस रवैया के कारण काफी नाखुश है जिस कारण ग्रामीणों ने अंत में थक हार कर मीडिया के माध्यम से ही प्रशासन से चापाकल एवं सोलर संचालित जल मीनार की मरम्मत की गुहार लगाई है और नए चापाकल की भी मांग की है क्योंकि इस छोटे से गांव में सिर्फ एक ही खराब चापाकल है मौके पर अर्जुन तंदर, लुखु तंदर, जोबा, लक्ष्मण , उज्जवल, बोलाई बागदी ,उत्तम , गौतम , मौजूद थे

यहां बताते चले कि यह गांव ऐतिहासिक ग्राम मंदिरों के गांव मलुटि से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर है, जिस कारण ग्रामीणों में काफी रोष देखा जा रहा है क्योंकि अधिकतर मुख्यमंत्री, मंत्री, वरियअधिकारी, और जनप्रतिनिधि मलूटी मंदिर आते हैं लेकिन आसपास के गांव पर तनिक भी ध्यान नहीं देते हैं और ना ही मुखिया ,पंचायत सचिव ध्यान देते हैं