साहिबगंज ( पतना )। पतना प्रखंड कार्यालय कक्ष में पतना प्रखंड विकास पदाधिकारी सौरभ कुमार सुमन की अध्यक्षता में स्थानीय समाजसेवियों संगठनों सहित सामाजिक अतिथियों के साथ बैठक आहूत की गई ।जिस दौरान एक सामाजिक व्यवस्था को सुदृर्ड बनाने हेतु सालो से बिदुधाम मंदिर परिसर में क्षतिग्रस्त हुए सरकारी अतिथि भवनों सहित मंदिर अधिकृत क्षेत्र को साफ सफाई हेतु पहल करने को लेकर विशेष चर्चा की गई।साथ बिंदुधाम मंदिर में पूर्व प्रबंधन समिति सीबीआई जांच मिठाई को स्वतंत्र कर पटना परस प्रखंड विकास पदाधिकारी सौरव कुमार सुमन के नेतृत्व में सभी स्थानीय समाजसेवियों मुखिया एवं गणमान्य लोगों की उपस्थिति में नए प्रबंधन समिति का पुनर्गठन करने की योजना हैताकि भविष्य में विधिव्यस्था पर एक सामाजिक कदम उठाने में स्थानीय समाजसेवियों को बल मिले। उन्होंने बताया कि मंदिर प्रांगण में सुरक्षा एवं देखरेख हेतु विभिन्न बिंदुओं पर जिला से सुरक्षा गार्ड की भी मांग की जाएगी एवं प्रखण्ड स्तरीय चुनाव कर देखरेख हेतु अनुबंध के आधार पर युवाओं को बहाल किया जाएगा।जो यहाँ की क्षतिपूर्ति की जानकारी देते हुए उसकी सुरक्षा के लिए तैयार रहेंगे।
समाजसेवी राजकमल भगत में बैठक के दौरान मंदिर परिसर में पूर्व से बने सरकारी दुकानों विवाह भवनों एवं शौचालयों के मरम्मत ,एवं सीसीटीवी कैमरे का पूरे मंदिर परिसर में विस्थापन करने की भी मांग की भी मांग की है । जिस पर पतना प्रखंड विकास पदाधिकारी ने हामी भरते हुए हर संभव मंदिर को सामाजिक विधि व्यवस्था से संतुष्ट करने में अपना सहयोग देने की बात कही है। वही धार्मिक और सामाजिक दृष्टिकोण से मंदिर को जिले के महत्वकांक्षी धरोहर के रूप में बदलाव कर एक मिसाल कायम की जाएगी। प्रबंधन समिति के गठन हेतु अगली बैठक में विस्तृत रूप से पदस्थापित किए जाएंगे एवं प्रबंधन समिति के अध्यक्ष के रूप में पतना प्रखंड विकास पदाधिकारी सौरव कुमार सुमन सह अध्यक्ष के रूप में बरहरवा प्रखंड विकास पदाधिकारी की भी भूमिका पर फैसला लिया जाना है । बैठक में समाजसेवी राजकमल भगत, गंगा बाबा ,बड़ा दिघी मुखिया चंदू सोरेन,पूर्व प्रबंधन समिति सचिव दिलीप डोकानिया, राजीव रंजन उर्फ पुटू, कुसुमाकर तिवारी,डोज़न घोष,रामनाथ बिद्रोही, दिनेश कर्मकार,अभिजीत कुशवाहा, आनंद भगत, देवोजीत कुशवाहा, जयकांत ठाकुर, मनीष पंडित,सहित अन्य दर्जनों स्थानीय लोग मौजूद रहे ।