धनबाद | रविवार को झारखण्ड रिसोर्स शिक्षक/थेरेपिस्ट संघ का एक प्रतिनिधि मण्डल अपनी 7 वर्षों से लंबित माँगो को लेकर सत्तारूढ़ दल, (झारखंड सरकार)के सचेतक सह टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महतो से मिला । प्रतिनिधि मंडल के रिसोर्स शिक्षक और फियोथेरेपिस्टों ने कहा कि हमलोग राज्य के प्रत्येक प्रखंड के 600 से 800 दिव्यांग बच्चों की शिक्षा व चिकित्सा पुनर्वास का कार्य मात्र दो या तीन लोग मिलकर संभालते हैं । जबकि सरकार द्वारा हमारा मानदेय वृद्धि को विगत 7 वर्षों से रोक कर रखा गया है ।
विधायक के समक्ष मानदेय वृद्धि, चिकित्सा व समूह बीमा,पी.एफ़. कटौती, ई एल की सुविधा, सेवा नियमितीकरण, जैसी अन्य मांगों को रखा गया।
विधायक ने कहा समावेशी शिक्षा में दिव्यांग बच्चों का पुनर्वास हो रहा है । इसमें कार्यरत रिसोर्स शिक्षक और थेरेपिस्ट के मानदेय वृद्धि के लिए मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री से बात करेंगे और सरकार से अन्य मांगों पर कार्यवायी के लिए आग्रह करूँगा ।संघ के प्रतिनिधि मण्डल कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष जलेश्वर महतो से मिलकर अपनी मांगों को रखा । जालेश्वर महतो ने कहा कि जल्द ही राज्य परियोजना निदेशक से मिलकर इस विषय पर बात करूंगा । प्रतिनिधि मंडल में फ़िज़ियोथेरेपिस्ट डॉ मनोज सिंह, संघ के कार्यकारी अध्यक्ष अख़लाक़ अहमद, पंचायत बचाओ समिति के अध्यक्ष कार्तिक तिवारी, रूपा चक्रवर्ती, रौशन कुमारी, पूनम सिन्हा, अवनीश त्रिपाठी, फहीमअंसारी, वीणा कुमारी, देवेन महतो आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे ।