लोहरदगा । राज्य सरकार के निदेश पर आज आपके अधिकार-आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम भण्डरा प्रखण्ड के भण्डरा पंचायत में आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम की शुरूआत उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो द्वारा दीप प्रज्जवलित कर की गई।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने कहा कि राज्य बने 21 वर्ष और देश की आजादी को 75 वर्ष बीत चुके हैं लेकिन अब भी छोटे-छोटे अधिकारों को लेकर लोग जूझ रहे हैं। वर्तमान राज्य ने निर्णय लिया है कि प्रत्येक पंचायत में आपके अधिकार-आपकी सरकार, आपके द्वार के जरिये लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाने का कार्य किया जाय। इन कार्यक्रमों के जरिये जिले के पदाधिकारी व कर्मी आपकी समस्याएं सुन रहे हैं।

गर्भ से मृत्यु तक के लिए योजनाएं

उपायुक्त ने कहा कि किसी व्यक्ति के गर्भ से लेकर मृत्यु तक की योजनाएं सरकार चला रही है। महिला एवं बाल विकास परियोजना के अंतर्गत गर्भवती महिला को पोषाहार दिया जाता है, बच्चे के जन्म पर पूर्ण टीकाकरण सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में निःशुल्क होता है। महिलाएं अपना प्रसव संस्थागत तरीके से ही करायें। यदि लड़की का जन्म होता है तो मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना जैसे लाभ दिये जाते हैं। सभी बच्चों को विद्यालय में पढ़नेे, आंगनबाड़ी केंद्रों में अधिकार दिये जाते हैं। विद्यालय में नामांकन, पाठ्य पुस्तक, पोशाक, छात्रवृति सरकार की ओर से दी जाती है।
जिनके पास आवास नहीं है उनके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना, बिरसा आवास योजना, भीमराव अंबेडकर आवास योजना, मत्स्यपालकों के लिए मछुआ आवास योजना है।
भोजन का अधिकार के तहत सभी को राशन कार्ड दिया जाता रहा है। जिनके पास कार्ड की समस्या हो वे तुरंत अपना आवेदन आपूर्ति विभाग में दे सकते हैं। सरकार का उदे्श्य है कि कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे। अगर किसी राशन डीलर द्वार अनाज की कटौती कर लाभुक को दिया जा रहा है तो इसकी शिकायत करें, तुरंत कार्रवाई होगी।

माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि वैसे व्यक्ति जिनकी उम्र 60 वर्ष या इससे अधिक है तो वे मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन से लाभान्वित हो सकते हैं। जो योग्य हैं वे आवेदन करें, अपने प्रखण्ड कार्यालयों में भी आवेदन दे सकते हैं।
इसी प्रकार वैसी निराश्रित महिलाएं जो 45 वर्ष की उम्र पूरी कर चुकी हैं, परित्यक्ता हैं, 18 वर्ष से ऊपर की विधवा हैं उन्हें भी पेंशन दी जायेगी। जो 40 फीसदी शारीरिक रूप से दिव्यांग हैं उन्हें दिव्यांग पेंशन दिया जायेगा। जो असहाय हैं, वृद्ध हैं, उन्हें कंबल योजना से आच्छादित किया जा रहा है। ठंड से बचाव के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत में आयोजित कार्यक्रम में कंबल का वितरण असहायों, जरूरतमंद, वृद्धजनों के बीच किया जा रहा है।

सरकार कृषि कार्यों के लिए 50 प्रतिशत अनुदान पर बीज दे रही है। खाद दे रही है, सिंचाई की योजनाओं से आच्छादित कर रही है। किसान इसका पूरा लाभ उठायें। साथ ही, किसान व्यवसायिक खेती करें तााकि आर्थिक रूप से समृद्ध हो सकें। केसीसी का लाभ लें। जितनी राशि की जरूरत है उनकी ही राशि केसीसी ऋण के रूप में लें।
पलायन छोड़ें, सोच बदलें
उपायुक्त ने कहा कि लोग पलायन करने से बचें। अन्य राज्यों में जाकर आमदनी का जरिया ढूंढ़ने व मजदूरी करने से बेहतर है कि अपने गांव में ही रहकर रोजगार किया जाय। पलायन की मानसिकता से बाहर निकलने की जरूरत है। मनरेगा में सौ दिनों का रोजगार आपको अपने गांव में ही दिया जा रहा है। खेती के करने की सुविधा, पशुपालन के लिए मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना दी जा रही है। मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना में मुर्गी, बत्तख, बकरी, सूकर पालन के लिए पशुधन दिया जा रहा है। जो 3-4 गाय पालना चाहते हैं उन्हें भी लाभ और केसीसी से आच्छादित करने का कार्य किया जायेगा।

सरकारी केंद्रों पर ही बेचें अपना धान

उपायुक्त ने कहा कि इस वर्ष धान की पैदावार काफी अच्छी हुई। किसानों को अपना धान सरकारी धान अधिप्राप्ति केंद्रों पर ही बेचना चाहिए। बिचौलियों के चक्कर में ना फंसे। सरकार आपके आपके धान की कीमत 20.50 रूपये प्रति किग्रा की दर से भुगतान करेगी। बिचौलिये आपको ठग कर आपको आपके अधिकार से वंचित कर देते हैं।
जमीन सर्वें में विसंगतियां
उपायुक्त ने कहा कि जमीन सर्वे में कई विसंगतियां सामने आई हैं। इसके निराकरण के लिए जिला की ओर से राज्य सरकार को अवगत कराया जायेगा।
जाति/आवासीय/आय प्रमाण पत्र भी समय पर मिलता है जिनकी जानकारी व लाभ लेने की आवश्यकता है।
उपायुक्त ने कहा कि हिट एंड रन के केस में सड़क दुर्घटना में अगर व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो परिवहन विभाग की ओर से मुआवजा दिया जाता है। वज्रपात या सर्पदंश से मौत की स्थिति में भी सहायता राशि दी जाती है। कमाने वाले व्यक्ति की मौत पर सहायता राशि दी जाती है।
लोग अपने अधिकारों को पहचानें, उसका लाभ लें। जो महिलाएं शराब-हंड़ियां बनाने का कार्य करती हैं वे समाज और अपना अहित कर रही हैं। झगड़ा का मुख्य कारण और बीमारी का कारण शराब बनता है। शराब बेचनेवाला और पीने वाला दोनों बर्बाद हो जाता है। शराब-हंड़िया बनानेवाली महिलाएं मुख्यमंत्री फूलो-झानो आशीर्वाद योजना से जुड़ें और जेएसएलपीएस की सहायता से स्वरोजगार से जुड़ें।

अन्य पदाधिकारियों ने दी जानकारी

कार्यक्रम में जिला आपूर्ति द्वारा हरा राशन कार्ड, सक्षम लोगों से कार्ड सरेंडर किये जाने, धान अधि प्राप्ति, किसानों को लैंपस में अपना निबंधन कराने, फेक कॉल से बचने की जानकारी दी।
कल्याण विभाग द्वारा मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना, गंभीर बीमारी पर चिकित्सा अनुदान, छात्रवृति योजना की जानकारी दी।

पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल द्वारा नल-जल योजना की जानकारी दी गई।
सामाजिक सुरक्षा कोषांग सहायक निदेशक एआई उरांव द्वारा मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना, निराश्रित महिला पेंशन योजना, दिव्यांग पेंशन योजना की जानकारी दी गई।
अंचल अधिकारी द्वारा आय/जाति/आवासीय प्रमाण पत्र बनवाने, क्षतिग्रस्त मकान को बनवाने, पशु क्षति/मृत्यू की दशा में दिये जाने वाले लाभ की जानकारी दी।
श्रम अधीक्षक द्वारा श्रम कार्ड की जानकारी दी गई।
जिला पशुपालन पदाधिकारी अनुप कुमार द्वारा मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना, पशुओं का टीकाकरण, कृत्रिम गर्भाधान समेत अन्य जानकारी दी गईं
जिला कृषि पदाधिकारी शिव कुमार राम द्वारा केसीसी, मुख्यमंत्री कृषि ऋण माफी योजना, 90 प्रतिशत अनुदान पर टपक सिंचाई योजना, 50 प्रतिशत अनुदान पर गेहूं, चना, सरसों बीज का वितरण योजना की जानकारी दी।
जिला परिवहन पदाधिकारी अमित बेसरा द्वारा हिट एंड रन के मामले में 25 हजार रूपये, आपदा की ओर से एक लाख रूपये और पारिवारिक लाभ के रूप में 20 हजार रूपये दिये जाने की जानकारी दी।
जिला सांख्यिकी पदाधिकारी शिशिर तिग्गा द्वारा जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र की जानकारी दी गई।

परिसंपत्तियों का वितरण

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के 05 लाभुकों को अनुदान राशि का स्वीकृति पत्र, प्रधानमंत्री आवास योजना के 10 लाभुकों को स्वीकृति पत्र, 05 किसानों को केसीसी ऋण, 41 लाभुकों को कम्बल और राजकीयकृत मध्य विद्यालय भंडरा के 08 छात्र-छात्राओं के बीच पोशाक वितरण किया गया।