हज़ारीबाग । सांसद सह अध्यक्ष वित्त संबंधी संसदीय स्थायी समिति जयंत सिन्हा हज़ारीबाग लोकसभा में रेल सेवाओं के विस्तार हेतु सदैव प्रयासरत रहे हैं। उन्होंने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाकात कर संसदीय क्षेत्र से जुड़े विभिन्न रेल विषयों पर सार्थक चर्चा की। रेल मंत्री ने इन सभी विषयों पर संज्ञान लेकर आवश्यक सहयोग देने का आश्वासन दिया है।
जयंत सिन्हा ने रेल मंत्री से कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच के अनुसार भारतीय रेल सिर्फ दूरियों को कनेक्ट करने का माध्यम नहीं बल्कि देश की संस्कृति, पर्यटन व तीर्थाटन को भी कनेक्ट करने का अहम माध्यम है। मेरे संसदीय क्षेत्र हज़ारीबाग के लोग जहां पहले सिर्फ सड़क यात्रा पर आश्रित थे, वहीं अब वे रेल सेवा का भी अत्यधिक प्रयोग कर पा रहे हैं।

उन्होंने रेल मंत्री का कुछ अहम विषयों की ओर ध्यान आकृष्ट करवाया।

मुख्य विषय

  1. रांची-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस (12453/12454) गुरुवार व रविवार को वाया बरकाकाना जंक्शन होकर जाती थी। वर्तमान में इसका रुट लोहरदगा-टोरी होकर कर दिया गया है। यह ट्रेन हज़ारीबाग से दिल्ली रेल से जाने का सबसे तीव्र माध्यम थी। इसका परिचालन बंद होने से हज़ारों यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। बरकाकाना जंक्शन से भी इसके परिचालन की अत्यंत आवश्यकता है।
  2. हज़ारीबाग लोकसभा को सीधी लंबी दूरी की ट्रेनों से जोड़ पाने के लिये वर्ष 2019 में हज़ारीबाग टाउन रेलवे स्टेशन पर ₹28 करोड़ की लागत से बनने वाले कोच अनुरक्षण डिपो को स्वीकृति दी गयी थी। हज़ारीबाग से पटना, दिल्ली और कोलकाता के लिए ट्रेनों का परिचालन शुरू करवाना ज़रूरी है। इससे उद्योग व पर्यटन समेत रोज़गार को भी बढ़ावा मिलेगा।
  3. सुरक्षा की दृष्टि से क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर रोड ओवर ब्रिज और रोड अंडरपास ब्रिज के निर्माण की अत्यंत आवश्यकता है।
  4. हज़ारीबाग लोकसभा में कोयला परिवहन हेतु कई रेलवे साइडिंग हैं। कोयला परिचालन में अधिकतर गाड़ियों के न ढके होने के कारण वायु प्रदूषण की समस्या बढ़ रही है और क्षेत्र के लोगों के स्वास्थ्य को खतरा हो रहा है। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि परिवहन के रास्ते में पड़ने वाली कई जगहें असामाजिक तत्वों का अड्डा बन गयी हैं और यहां आपराधिक घटनाएं भी हो रही हैं। इसके अतिरिक्त रेलवे साइडिंग से जुड़ी सड़कों की भी हालत खस्ता है, जिससे दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है। अतः क्षेत्रवासियों के कल्याण हेतु इन विषयों पर शीघ्र ही कोई ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है।
  5. रांची-बरकाकाना रेल मार्ग का निर्माण जारी है। इसके पूर्ण होने से न सिर्फ रांची से बरकाकाना का सफर 1 घंटे में पूरा होगा बल्कि पटना जाने में 60 किलोमीटर की दूरी भी कम होगी। इस जनकल्याणकारी योजना से लाखों लोग लाभान्वित होंगे। इस निर्माण कार्य को शीघ्र पूरा कर सकें तो जनता को अत्यंत लाभ होगा।

सांसद जयंत सिन्हा ने रेल मंत्री से निवेदन किया है कि वे लाखों लोगों की इन बहुप्रतीक्षित मांगों पर संज्ञान लेते हुए यथोचित कार्रवाई करने की कृपा करें। उन्होंने कहा कि हज़ारीबाग में रेल सुविधाओं की बढ़ोतरी हेतु हमें सदैव प्रधानमंत्री व रेल मंत्री का सहयोग प्राप्त होता है। मैं क्षेत्र में रेल सेवाओं की प्रगति हेतु निरंतर रेल मंत्री जी के साथ चर्चा कर रहा हूँ। क्षेत्रवासियों को बेहतर सुविधाएं मिलें और हज़ारीबाग रेलवे प्रगति की ओर अग्रसर रहे, इसके लिए प्रयासरत हूँ।