लोहरदगा । आपके अधिकार-आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन आज कैरो प्रखण्ड के हनहट पंचायत स्थित स्कूल मैदान में किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्जवलित कर झारखण्ड सरकार की वाणिज्यकर सचिव आराधना पटनायक द्वारा किया गया।

इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए वाणिज्यकर सचिव ने कहा कि जेएसएलपीएस व अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं से जुड़कर ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं स्वावलंबी हुई हैं। उत्पादन बढ़ा है। बाजार भी उपलब्ध है। लेकिन जो कीमत उस उत्पाद का मिलना चाहिए वह काफी कम मिल पाता है। अगर उत्पादन को संसाधित (प्रोसेस्ड) कर बाजार में बेचा जाय, पलाश मार्केट के जरिये उपभोक्ता तक पहुंचाया जाय तो काफी अच्छी कीमत बाजार में मिल सकती है। उदाहरण के तौर पर लोहरदगा जिला में मड़ुआ का उत्पादन काफी होता है लेकिन उसे प्रोसेस्ड कर बाजार तक नहीं पहुंचाया जाता है। अगर स्वयंसहायता समूह की महिलाएं गेहूं के बदले आटा चक्की लगा कर आटा की पैकेजिंग करें, ईमली/चिरौंजी, सहजन आदि को प्रोसेस्ड करें तो काफी अच्छी कीमत मिल सकती और महिला स्वयं सहायता समूह काफी सुदृढ़ हो सकता है।

फार्मर्स प्रोड्यूसर्स ग्रुप को भी दे सकते हैं उत्पाद

वाणिज्यकर सचिव ने कहा कि जेएसएलपीएस स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अपने उत्पाद अगर फार्मस प्रोड्यूसर्स ग्रुप को दें तो उसके लिए काफी अच्छी कीमत मिल सकती है। इससे दैनिक खर्च आसानी से निकाला जा सकता है।

हंड़िया-दारू बेचने वाली महिलाओं को ब्याजमुक्त ऋण

जो महिलाएं हंड़िया-दारू बनाकर बेचने का काम कर रही हैं उन्हें समाज के मुख्य धारा में जोड़ने के लिए राज्य सरकार ने फूलो-झानो आशीर्वाद योजना की शुरूआत की है। इसके जरिये ऐसी महिलाओं को ब्याजमुक्त ऋण के रूप में 10 हजार रूपये दिये जा रहे है जिससे महिलाएं दारू-हंड़िया छोड़ जेएसएलपीएस की सहायता से दूसरे रोजगार से जुड़ रही हैं। इस योजना की शुरूआत के बाद झारखण्ड में 15 हजार ऐसी महिलाओं ने हंड़िया-दारू बेचने का काम छोड़ा है। वे आज पहले से तिगुना आय अर्जित कर रही हैं। ऐसी महिलाओं ने साबुन व तेल बनाने का कार्य शुरू किया है, कुछ कृषि व पशुपालन से जुड़ी हैं।

कोविड से बचाव के नियमों का पालन करते रहें

वाणिज्यकर सचिव ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए जो गाईडलाइंस जारी की गई हैं उनका पालन ईमानदारी से करते रहें। मास्क पहनना, साबुन/हैंडवॉश से हाथ धोना, सामाजिक दूरी का पालन करना जारी रखें। इस धोखे में ना रहें कि कोविड खत्म हो गया है। कोविड के अलावा साफ-सफाई व स्वच्छता को भी अपनायें। शौच से आने के उपरांत भी अच्छी तरह हाथ साबुन या हैण्डवॉश से धोयें। गंदगी से हम डायरिया, कोलेरा, टायफायड, मलेरिया जैसी बीमारियों की भी चपेट में आ सकते हैं। महिलाओं व बच्चों का खास ध्यान रखने की आवश्यकता है। ये भी हमारे भविष्य हैं। बहु अपने सास और सास अपने बहु के स्वास्थ्य का ख्याल करें। महिलाएं स्वस्थ रहेंगी तो एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देंगी। अपने बच्चे को स्कूल भेजें। गर्भवती महिलाओं को नियमित रूप से पोषाहार दें। प्रसव उपरांत मां व बच्चे का टीकारण समय से करायें।

सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ उठायें : दिलीप कुमार टोप्पो

उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लोग सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ अवश्य उठायें। राज्य बने 21 वर्ष और देश की आजादी 75 वर्ष बीत गये हैं, इसके बावजूद लोग अभी तक योजनाओं का लाभ नहीं ले पा रहे हैं। सरकार की ओर से सभी योग्य व गरीब लोगों को हरा राशन कार्ड दे रही है। जो राशन कार्ड नहीं बनवा सके हैं वे आवेदन दें। जिनका नाम छूटा है वे अपना नाम जुड़वा लें।
सर्वजन पेंशन योजना अंतर्गत 60 वर्ष की उम्र या इससे उपर की उम्र के लोगों को मुख्यमंत्री वृद्धावस्था पेंशन, 18 वर्ष या इससे अधिक उम्र की महिलाएं जो निराश्रित हैं, विधवा या परित्यक्त हैं उनके लिए निराश्रित पेंशन योजना, दिव्यांग को दिव्यांग पेंशन, एड्स/एचआईवी पीड़ित को पेंशन के रूप में प्रतिमाह एक हजार रूपये दिया जा रहा है। कोई भी समस्या है तो अपने पंचायत, प्रखण्ड या जिला स्तर पर संपर्क करें।
जिनके पास अपना आवास नहीं है उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना, बिरसा आवास योजना, बाबा साहेब अंबेडकर आवास योजना से आच्छादित किया जा रहा है। आवेदन जमा करें, स्वीकृत होगा।

कृषि कार्य के लिए किसान केसीसी ऋण लें। समय से चुकाने पर इसमें मात्र एक प्रतिशत ब्याज लगता है। किसान एक वर्ष में रबी, खरीफ के अतिरिक्त अन्य फसल भी चुनें। किसान वही फसल चुनें जिसमें मुनाफा होता हो।

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना अंतर्गत 50 से 90 प्रतिशत अनुदान पर बकरी, मुर्गी, बत्तख, सूकर आदि पशुधन दिया जा रहा है। किसान पशुपालन भी करें। इस आय से बच्चों की पढ़ाई व शादी में हो सकेगी।

सिंचाई योजना में भूमि संरक्षण विभाग की ओर से पंपसेट दिया जा रहा है। टपक सिंचाई की योजना दी जा रही है। इस वर्ष समय पर धान का बीज दिया गया जिससे अच्छी फसल हुई।

धान अधिप्राप्ति केंद्रों पर ही बेचें धान

उपायुक्त ने कहा कि किसान अपना धान सरकारी लैम्पस, धान अधिप्राप्ति केंद्र पर ही बेचें। कोई भी किसान बिचौलिये के झांसे में ना आये। सरकार आपको धान की कीमत 20.50 रूपये प्रति किग्रा की दर से भुगतान करेगी। इस वर्ष जिले में धान अधिप्राप्ति केंद्रों की संख्या बढ़ायी जायेगी। किसान फ्रॉड कॉल से भी सावधान रहें। किसी भी व्यक्ति को अपने बैंक का खाता नंबर, एटीएम का पिन नंबर साझा ना करें।

कई योजनाओं का लाभ दे रही सरकार

उपायुक्त ने कहा कि सरकार ने राशनकार्डधारियों के लिए वर्ष में दो बार धोती/लुंगी व साड़ी देने की योजना शुरू की है। इसी प्रकार गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को भी अधिकतम 25 हजार रूपये का लाभ दिया जाता है।

लोहरदगा जिले में हिट एंड रन के काफी मामले आते हैं। इसमें सड़क दुर्घटना के मृत व्यक्ति के परिजनों को परिवहन विभाग की ओर से 25 हजार और आपदा प्रबंधन की ओर से एक लाख रूपये दिये जाते हैं। वज्रपात व सर्पदंश से मृत्यु होने जाने पर मृतक के परिजन को चार रूपये का मुआवजा दिया जाता है। निर्धारित समयावधि के भीतर आय, आवासीय व जाति का प्रमाण पत्र दिया जा रहा है।शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को पोशाक, मध्याहन भोजन, छात्रवृति राशि दी जा रही है।
जो महिलाएं हंड़िया-दारू बेचती हैं वे मुख्यधारा में लौटें। जेएसएलपीएस के जरिये स्वरोजगार से जुड़ें। शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को पोशाक, मध्याहन भोजन, छात्रवृति राशि दी जा रही है।
जो महिलाएं हंड़िया-दारू बेचती हैं वे मुख्यधारा में लौटें। जेएसएलपीएस के जरिये स्वरोजगार से जुड़ें।

कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा ने कहा कि राज्य सरकार लोगों के विकास के लिए सतत प्रयासरत है। मनरेगा, 15वे वित्त आयोग के अंतर्गत कई लाभकारी योजनायें चलायी जा रही हैं। लोगों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना योजना चलायी जा रही हैं। आप चापाकल की सुविधा लें, जॉब कार्ड बनवाएं, छात्रवृत्ति लें, पेंशन लें और सरकार के विकास में सहभागी बनें।

अन्य पदाधिकारियों ने दी जानकारी

जिला आपूर्ति पदाधिकारी प्रवीण केरकेट्टा द्वारा हरा राशन कार्ड, धान अधिप्राप्ति, फ्रॉड कॉल से सावधान रहने समेत अन्य जानकारी दी।
श्रम अधीक्षक ने श्रम कार्ड कार्ड, प्रवासी मजदूरों का निबंधन समेत अन्य जानकारी दी।

जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा शिव कुमार राम द्वारा बीज विनिमय, टपक सिंचाई, केसीसी, मुख्यमंत्री ऋण माफी योजना समेत अन्य जानकारी दी।

जिला समाज कल्याण पदाधिकारी मनीषा तिर्की द्वारा सखी वन स्टॉप सेंटर, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, मुख्यमंत्री सुकन्या योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की जानकारी दी।

सामाजिक सुरक्षा सहायक निदेशक एआई उरांव द्वारा सर्वजन पेंशन योजना अंतर्गत मुख्यमंत्री वृद्धावस्था पेंशन योजना, स्वामी विवेकानंद निःशक्त स्वालम्बन पेंशन योजना, मुख्यमंत्री निराश्रित/विधवा/परित्यक्त महिला पेंशन योजना की जानकारी दी गयी।

जिला पशुपालन पदाधिकारी अनुप कुमार द्वारा मुख्यमंत्री पशुधन योजना के अंतर्गत बकरा विकास योजना, बकरी, मुर्गी, बत्तख, सूकर पालन आदि योजनाओं की जानकारी दी। साथ ही पशु को बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण की जानकारी दी। दो गाय पालन योजना अंतर्गत बीएपीएल/एपीएल को गाय पालन योजना की जानकारी दी। जिला कल्याण पदाधिकारी नारायण राम द्वारा मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना अंतर्गत 25 हजार रुपये तक का लाभ,
छात्रवृत्ति योजना (प्री मैट्रिक)
साइकिल वितरण योजना, एसटी-एससी अत्याचार अधिनियम अंतर्गत दी जाने वाली कानूनी व आर्थिक सहायता की जानकारी दी। इसके अतिरिक्त उन्होंने निर्वाचन अंतर्गत छुटे हुए व 1 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की उम्र पूरी करने वाले युवाओं से अपना नाम मतदाता सूची में जुड़वाने की अपील की।

जिला मत्स्य पदाधिकारी अंजली कुमारी द्वारा विभाग से संचालित मत्स्य बीज उत्पादन के लिए 3 व 5 दिवसीय प्रशिक्षण की जानकारी दी। साथ ही महा झींगा पालन, तालाबों की बंदोबस्ती, तालाब निर्माण योजना, पीएम मत्स्य संपदा योजना की जानकारी दी।

परिसंपत्तियों का वितरण

कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा मुख्यमंत्री सुकन्या योजना अंतर्गत 05, गोदभराई का 01, अन्नप्रासन का 01, मुख्यमंत्री वृद्धावस्था पेंशन के 05, कंबल वितरण के 160, सौ दिनांे का रोजगार प्राप्त करने वाले 05 लाभुक, मुख्यमंत्री पशुधन योजना अंतर्गत 10 लोगों को बत्तख चूजा, 05 पशुपालकों के बीच दवा का वितरण, एक लाभुक के बीच प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत 05 को स्वीकृति पत्र, 05 श्रमिकों बीच जॉब कार्ड, 05 असंगठित कामगारों के बीच श्रम कार्ड, 05 किसानों के बीच चना-गेहूं का वितरण आदि वितरण किया गया।