हजारीबाग । मालवीय मार्ग स्थित राणी सती दादी मंदिर में राणी सती दादी का भव्य विवाह उत्सव बड़े ही धूमधाम मनाया गया। सर्वप्रथम सबसे पहले मुनका बगीचा से भव्य बारात निकाली गई। बारात के आगे आगे ढोल नगाड़े चल रहे थे तो वही पीछे महिलाएं और पुरुष जय दादी की जय कारे लगा रहे थे। तो वही दादी भक्त दादी भजन पर जमकर नृत्य कर रहे थे। इसी बीच बच्चों ने विभिन्न स्थानों पर जमकर आतिशबाजी की। इसी के साथ रानी सती मंदिर परिसर पहुंचकर बारात समाप्त हुई। बारात मे तनधन स्वरूप राजनंदनी टिबड़ेवाल थी,वही श्री कृष्णा स्वरूप हृदय टिबड़ेवाल थे। वही मंदिर परिसर में दादी स्वरूप मे गरिमा टिबड़ेवाल थी। मंदिर पुजारी शशिकांत मिश्रा द्वारा पूजा अर्चना कराया गया। जिसके बाद दादी का भव्य श्रृंगार किया गया। मंदिर परिसर में दादी भक्तों ने जमकर जय दादी की जयकारों की गूंज लगाई। दादी के विवाह उत्सव मे विवाह समारोह की तरफ पूरी रस्म अदा की है। दादी भक्तों ने दादी के भजन पर जमकर नृत्य किया। जिसके बाद सभी ने बालस्वरूप तनधन जी,दादी जी एवं कृष्णा जी से आशीर्वाद लिया। जिसके पश्चात महिला मंडल की महिलाओं के द्वारा दादी जी को चुनड़ी,साड़ी,फल एवं कई समान चढ़ाए गए। भव्य आरती के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ। सभी दादी भक्तों के बीच महाप्रसाद वितरण किया गया।