बरकट्ठा। प्रखंड क्षेत्र में आए दिन बिजली आपूर्ति की समस्या गंभीर होती जा रही है। बमुश्किल 5-6 घंटे ही बिजली मिल पा रही है ।लोग मोमबत्ती व लालटेन के सहारे रात बिताने को मजबूर हैं ।इस संदर्भ में बरकट्ठा अडबार स्थित तुरिया टोली के ग्रामीण और बरकट्ठा के ग्रामीणों ने बिजली की समस्याओं को लेकर पूर्व विधायक जानकी यादव से मिले और बताया कि हम लोगों का बिजली बिल 40-50 हजार करके चार-पांच सालों के बाद आया है। इतना बिल हम लोग देने से असमर्थ हैं ।हम लोगों का बिजली का तार भी काट दिया गया है जिससे हम लोग अंधेरे में रह रहे हैं।बिजली विभाग के द्वारा हम लोगों पर मुकदमा करने की बात कही गई है ।इसी को लेकर लगभग 150 कंजूमर जानकी प्रसाद यादव से मिले ।
वही विधायक ने कहा कि जनता बिजली विभाग के लापरवाही से त्रस्त है। लोगों को डराया ,धमकाया जा रहा है ,दहशत का माहौल बनाया जा रहा है ,लोग अब बिजली विभाग के लापरवाही से उब चुके हैं । मैं सरकार से मांग करता हूं की लोगों के कोरोना काल का बिजली बिल माफ किया जाय ।खास करके वैसे लोगों का जो बीपीएल परिवार से हैं ।बिजली विभाग इतना लापरवाह है कि प्रत्येक माह बिल कंजूमर के घर नहीं पहुंचता है ,जिसके कारण उपभोक्ता बिल जमा नहीं कर पाते हैं ।अन्य राज्यों में 300 यूनिट बिजली फ्री में दिया जाता है उसे यहां भी लागू किया जाय। कहा कि यदि बरकट्ठा में बिजली की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो हम लोग मजबूरन आंदोलन करेंगे। वहीं मुखिया संघ के अध्यक्ष बसंत साव ने कहा कि बिजली जब खराब होती है तो ग्रामीण पैसा जमा करके बिजली के तार को जोड़ते हैं ,ट्रांसफर में तेल डलवाते हैं तब बिजली मिल पाती है। बिजली विभाग की लापरवाही अब बर्दाश्त से बाहर हो रही है ।मौके पर मुखिया संघ के अध्यक्ष बसंत साव,सलैया मुखिया गोपाल प्रसाद ,विजय तुरी ,सुंदर तुरी समेत दर्जनों लोग उपस्थित थे।