रांची। श्रमजीवी पत्रकार यूनियन झारखंड के बैनर तले रांची जिला और आस पास के पत्रकारों की अहम बैठक हुई। रविवार को रांची के कचहरी रोड स्थित बिहार क्लब में आयोजित बैठक में रांची प्रेस क्लब चुनाव को लेकर चर्चा की गई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे मुख्य रूप से मौजूद वरिष्ठ पत्रकार विनय चतुर्वेदी ने कहा कि प्रेस क्लब के चुनाव से पहले किसी संगठन की ओर से पहली बार विचार विमर्श हुआ। यह अच्छी पहल है। उन्होंने कहा कि चुनाव को साफ और स्वच्छ हो, इसका विशेष ख्याल रखा जाए। साफ छवि वाले लोगों को जीता कर क्लब भेजा जाए। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि क्लब को क्लब ही रहने दिया जाए, इसे यूनियन का रूप लेने न दिया जाए। कहीं से कोई भी पत्रकार रांची क्लब आये, तो उन्हें यहाँ आकर बेहतर अनुभव हो। विनय चतुर्वेदी ने कहा कि क्लब में गलत लोगों को चुन कर न भेजे। जो प्रत्याशी गलत है, उन्हें मुँह पर कहना सीखे, आप चुनाव न लड़े, मैं आपको वोट नहीं दूंगा।
इस बैठक में विशेष रूप से मौजूद पत्रकार सुरेंद्र सोरेन, और शशि पांडेय मौजूद थे। शशि पांडे ने कहा कि चुनाव में सुलभ और सरल प्रत्याशी को चुनना ही हम सभी का प्रमुख दायित्व होना चाहिए। वहीं सोरेन दा ने अपने चुनाव अनुभव को साझा करते हुए कहा की प्रेस क्लब पत्रकारों के लिए सुकून की जगह बने। वोट देते समय जात पात, सीनियर जूनियर और व्यक्तिगत बातों को तरजीह न दे।
कार्यक्रम का आयोजन संपन्न कराने में मनोज पाठक, अमरेश कुमार, चंदन चौधरी, संजीत झा और चंदन सिंह ने विशेष भूमिका निभाई। मौके पर मौजूद सिटी और आस पास के पत्रकारों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये। किसी ने क्लब का बाइलॉज सुधारने तो किसी ने महिलाओं और बुजुर्गों के लिए स्पेशल स्थान देने की बात कही। बैठक में सुनील कुमार सिंह, मनोज पाठक, निलय सिंह, मुकेश सिंह, अमरेश कुमार, राजकुमार, राणा अरुण सिंह, चंदन चौधरी, उद्यम प्रभात, चंदन सिन्हा, अमित सिंह, विनोद सोनी, प्रदीप, गौरी रानी, वसीम, आदिल, रेहान, संजीत झा, कौशल, मनीष सिंह, चंदन रावत, अजय पांडे, मेहुल मृगेंद्र समेत अन्य पत्रकार मौजूद थे।I

बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया

  1. पत्रकारिता के मानदंड सर्वोच्च शिखर में ले जाने वाले लोगों को तरजीह दी जाए।
  2. बाइलॉज में संशोधन करते हुए, महिलाओं के लिए सीट आरक्षित की जाए।
  3. सदस्यता बनाने की अहर्ता 5 साल से घटा कर 2 साल किया जाए। लेकिन चुनाव लड़ने के लिए 5 वर्षो का अनुभव होना अनिवार्य है।
  4. नए पत्रकारों को प्रेस क्लब की और से 6 महीने के लिए ट्रेंनिग की व्यवस्था की जाए।
  5. क्लब के सभी 1100 सदस्यों का जुड़ाव हो इसके लिए विभिन्न विभाग की उपसमितियां बनाई जाए।
  6. क्लब की और से सेमिनार, वर्कशॉप, प्रतियोगिता व अन्य इवेंट आयोजित की जाए।
  7. वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मान के साथ क्लब में जोड़कर, उचित स्थान दिया जाये।
  8. इन सभी एजेंडा को AGM की बैठक में प्रस्तावित करने के
    लिए, अमरेश कुमार और चंदन चौधरी को जिम्मेवारी दी गयी।