साहिबगंज। राजमहल थाना क्षेत्र के डेढ़गामा गांव में एक विवाहिता ने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना मिलते ही राजमहल थाना प्रभारी प्रणित पटेल तथा पुलिस इंस्पेक्टर राजेश कुमार घटनास्थल पर पहुंच मामले की छानबीन की। हरेक एंगल से पुलिस जांच कर रही है। सामान्यतः रात को पोस्टमार्टम नहीं होने के चलते पार्थिव शरीर को उनके घर पर ही श्रवण चौकीदार की निगरानी में रखा गया था । पुलिस सोमवार की अहले सुबह पार्थिव शरीर को राजमहल अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया । सोमवार की दोपहर को पार्थिक शरीर को मंगलहाट श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया । उधर मृतक के पिता राजन राय (55)ने दहेज प्रताड़ित करने के आरोप में राजमहल थाना में लिखित आवेदन में उल्लेख किया है कि ससुराल के चार अभियुक्त पर आरोप लगाते हुए कहा कि 2 वर्ष पूर्व ही प्रेम प्रसंग में मेरी बेटी मानुषी राय को भगा कर शादी कर ली गई । तब से उनके ससुराल वाले डेढ़लाख रुपया तथा एक मोटरसाइकिल दहेज को लेकर प्रताड़ित करते थे और हमेशा इसी दहेज प्रताड़ना में ससुराल में कलेश हो रहे थे । इन्हीं की वजह से मानुषी राय दें दहेज प्रताड़ित सहन नहीं कर पाया जिससे वह रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । उधर पति तापोश राय उर्फ भोला राय के साथ उसकी क्या बातचीत हुई पुलिस इसकी जांच कर रही है। गांव में चर्चा है कि घटना की सूचना मिलने पर ससुर ने घर की छप्पर से अंदर घुस उसे बचाने का भी प्रयास किया, पर वह नाकाम रहा। तो वही मृतक के परिजनों ने बताया कि मृतक अपने पति से जिस एंड्राइड मोबाइल से वार्तालाप किया था वह मोबाइल की जगह परिजनों ने छोटा कोई दूसरा मोबाइल बरामद कराया है । परिजनों के द्वारा मोबाइल छिपाना कई तरह की आशंका दर्शाती है । इस दौरान राजमहल थाना प्रभारी प्राणित पाटेल ने बताया कि दहेज प्रताड़ित 304बी एक्ट के तहत भोला राय,छेदन राय,राजू राय,गोपाल राय चार अभियुक्त पर केस दर्ज कर पुलिस जांच कर रही है ।