178 रुपए का मजदुरी भुगतान करने की मांग

साहिबगंज ( उधवा ) । जिला बीड़ी श्रमिक यूनियन की ओर से शुक्रवार को एक प्रतिनिधिमंडल ने उपायुक्त से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मजदूरों का मजदूरी लागु न होने, पट्टी (बेगारी) के रूप में 10 प्रतिशत से 12 प्रतिशत बीडी करने आदि मांग की गई। बताया गया कि विगत 14 नवम्बर 2021 को यूनियन एवं मालिक एसोसियसन के बीच द्विपक्षीय वार्ता में समझौतानुसार 16 नवम्बर 2021 से प्रति हजार बीड़ी बनाने की मजदूरी 178/- (एक सौ अठहत्तर) रूपये मजदूरों को भुगतान नहीं किया जा रहा है। बंधुआ मजदूरी उन्मुलन का कानून बन गया है। लेकिन यह प्रथा बीड़ी उद्योग में बदस्तुर जारी हैं। मजदूरों का बीडी मनमाने तरीके से छाँटकर मजदूरी हड़पा जा रहा हैं। खराब पत्ता देकर पत्ता की कीमत मजदूरी से काट ली जाती हैं। इसके अलावे मजदूरी भुगतान के दिन हफ्ता में 10/- कटाई के नाम पर मजदूरों से पैसा लिया जाता हैं। मजदूरों की मजदूरी भुगतान करवाने के लिए बेगारी प्रथा को समाप्त करवाने तथा मजदूरों को विभिन्न प्रकार से लूट के खिलाफ प्रशासनिक हस्तक्षेप की मांग किया है। साथ ही पाकुड में स्थित बीड़ी मालिक मेसर्स एस० बी० डब्लु उद्योग लि० मेसर्स पताका बीड़ी इन्डस्ट्रीज तथा मेसर्स सुर्ती टोबाको को० एवं बरहरवा स्थित एस० बी० डब्लु उद्योग लि० के शाखा प्रबंधक तथा उनके मुंशी व एजेन्ट के साथ जिला के श्रमाधीक्षक तथा युनियन की संयुक्त बैठक बुलाकर ठोस निराकरण हेतु आवश्यक कदम उठाने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में मालेक अस्तर, असगर आलम, जयराम मंडल,सरिफूल शेख,कैफूल इस्लाम,जसीमुद्दीन शेख आदि शामिल थे।