साहिबगंज। नेहरू युवा केंद्र, युवा खेल व संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार व साहिबगंज माहाविद्याय के संयुक्त तत्वाधान में आजादी का अमृत महोत्सव व नदी उत्सव के तहत साहिबगंज महाविद्यालय के नंदन भवन में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां बड़ी संख्या में छात्र – छात्राओं ने भाग लिया। सांस्कृतिक प्रतियोगिता के माध्यम से सामूहिक एवं एकल नृत्य, क्लासिकल म्यूजिक को आधार बनाकर गीत – संगीत व कविता पाठ का आयोजन भी किया गया। प्रतियोगिता में प्रतिभागियों व उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वालों को प्रोत्साहित करते हुए पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एनएसएस के नोडल अधिकारी सह पर्यावरणविद डॉक्टर रणजीत सिंह ने कहा कि नदी हमारी लाइफ लाइन है, इसको अपने प्रकृति प्रवाह में बहने देने का हमें हरसंभव प्रयास करना चाहिए। नदी हमारी सांस्कृतिक विरासत के साथ ही जीविकोपार्जन का संसाधन भी है। मानव अपने जीवन से मृत्यु तक के सारे कार्यकलाप नदी के तट पर ही सम्पन्न किया करते हैं। कार्यक्रम, प्रभारी प्राचार्य डॉ. सिदाम सिंह मुंडा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
कार्यक्रम में महिला महाविद्यालय की प्रभारी प्राचार्य डॉ. राधा सिंह, डॉ. ध्रुव ज्योति कुमार सिंह, डॉ. संतोष कुमार चौधरी, प्रो. मिथलेश कुमार, मंजूल तथा नेहरु युवा केंद्र साहिबगंज के जिला परियोजना पदाधिकारी अंकित कुमार सिंह, कार्यक्रम समन्वयक सह एनएसएस जिला नोडल अधिकारी डॉक्टर रणजीत सिंह मुख्य रूप से शामिल रहे। वहीं निर्णायक मंडल में डॉ. रणजीत कुमार सिंह, डॉ. रूपा, प्रो. कुमार प्रशान्त भारती शामिल थे।