लोहरदगा। उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो की अध्यक्षता में आज एनजीटी की बैठक हुई। बैठक में जलस्त्रोतों के सैंपल की जांच, ठोस व तरल कचरा प्रबंधन, मेडिकल कचरा प्रबंधन, सौर उर्जा प्लांट अधिष्ठापन, जिला पर्यावरण योजना संबंधित विषयों विस्तृत चर्चा की गई। एनजीटी के सभी सदस्यों प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी, विभागों के संबंधित पदाधिकारियों को निदेश दिया गया कि अपने-अपने क्षेत्र में मौजूद जलस्त्रोतों के जल नमूना की जांच करा कर जल्द प्रतिवेदन समर्पित करें। नगर परिषद क्षेत्र में सूख एवं गीला कचरा प्रबंधन के अलग-अलग निस्तारन का प्रबंध करें। ग्रामीण क्षेत्रों में भी खर-पतवार सहित अन्य कचरों को एक निश्चित गडढ्े में जमा कराने हेतु प्रचार-प्रसार कराते हुए कचरा का निस्तारन सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। सभी पदाधिकारियों को जिला पर्यावरण योजना से संबंधित प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया ताकि ससमय विभाग को योजना उपलब्ध करायी जा सके।
बैठक में पंचायती राज विभाग अंर्तगत संचालित 15वें वित्त आयोग से प्राप्त राशि के आय-व्यय के संबंध में समीक्षा की गई तथा निदेश दिया गया कि चयनित योजनाओं को लेकर त्वरित अधिकाधिक खर्च कर कार्य किया जाय ताकि आनेवाले वर्ष में 15वें वित्त आयोग की राशि प्राप्त हो सके। इसके साथ ही कोविड से मृत्यु एवं टीकाकरण प्रगति की भी समीक्षा की गई।
बैठक में वन प्रमण्डल पदाधिकारी अरविंद कुमार, उप विकास आयुक्त अखौरी शशांक सिन्हा, अनुमण्डल पदाधिकारी अरविंद कुमार लाल, जिला परिवहन पदाधिकारी अमित बेसरा, जिला कृषि पदाधिकारी शिव कुमार राम, नगर परिषद कार्यपालक पदाधिकारी देवेंद्र कुमार, पीएचईडी कार्यपालक अभियंता सुशील टुडू, जिला पंचायती राज पदाधिकारी अनुराधा कुमारी, एनजीटी विशेषज्ञ सदस्य नवल किशोर प्रसाद, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, सभी अंचल अधिकारी सहित अन्य उपस्थित थे।