लिट्टीपाड़ा ( पाकुड़ ) । प्रखंड क्षेत्रों के विभिन्न चर्चों मे बड़े ही धुम धाम से क्रिसमस (बड़ा दिन)त्योहार शांति पूर्ण तरीके से मनाया गया।ईसाई सामुदायिक के लोग विभिन्न गिरजाघारों प्रर्थाना सभा मे पहुंचकर प्रभु यीसु मसीह से सुख शांति के लिए दुआ,प्रर्थाना की व अनांदित होकर गाजे बाजे नाच गान के साथ क्रिसमस त्योहार मनाया गया। इसके पश्चात बाइबिल से पास्टर, द्वारा विशेष वचन का उल्लेख करते हुए यीसु मसीह के जन्म दिन के बारे मे विस्तार पूर्वक बाईबिल से जानकारी दिया गया आशीर्वाद वचन से सभी मसीह भाई बहनों व माता पिता को बाताया गया कि यीसु ही जगत का उद्धारकर्ता है करके जैसे बाईबिल मे लिखा है कि यूहन्ना रचित सुसमाचार (3)16 मे लिखा है कि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उसने अपना एकलौता पुत्र को दे दिया ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे वह नश न हो परंतु अंनाद जीवन पाए। तथा स्तुति नाच गान कर यीसु मसीह का महिमा किया गया।व सभी ने भाईचारा ,प्रेम से यह त्योहार मनाया गया।आज के दिन पुरे इस क्षेत्रों मे अपने अपने गांव से मसीह भाई बहनों ने गिरजाघारों मे जाकर स्तुति आराधाना कर बड़ा दिन गैद्धरिंग मनाया गया। सभी लोग इक्कात्रित होकर बाईबिल से वचन सुना।स्तुति ,अराधाना कर यीसु की जन्म दिन त्योहार मनाया गया।प्रखंड क्षेत्रों के डहारलंगी,नवाडीह ,सुरजबेड़ा दराजमठ, तालपहाड़ी,झेनागड़िया,आदि गिरजाघारों मे धुम धाम से क्रिसमस त्येहार मनाया गया ।