कोलेबिरा ( सिमडेगा ) | सिमडेगा-गुमला कसौंधन वैश्य विकास संघ के प्रथम बैठक कोलेबिरा के प्रेस क्लब में आयोजन हुआ । बैठक की अध्यक्षता गुलाब प्रसाद साहू ने किया । बैठक में सिमडेगा, पंडरीपानी, धवाईपानी, रानीकुदर, कोलेबिरा, जलडेगा, बानो, बोंगराम, श्रीकोंडकेरा, कुड़लगा और गुमला जिले के क्षेत्र से काफी संख्या में लोग उपस्थित हुए। कार्यक्रम की शुरुवात महर्षि कश्यप के चित्र पर मार्ल्यापण और दीप प्रज्वलित कर किया गया। बैठक में कसौंधन समाज को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने पर विशेष बातचीत की गई। बातचीत के क्रम में बताया गया कि कसौंधन समाज को अभी भी कई सरकारी सुविधा नही मिल पाई है, यहां तक कि समाज को पिछड़ी जाति का दर्जा मिलने के बाद भी इसे सरकार के केंद्रीय सूची में शामिल नही किया है। अतः इस तरह के लाभों के लिए हमे एकजुट होना होगा।
बैठक में नए संघ के लिए अध्यक्ष पद के सर्वसम्मति से श्री गुलाब प्रसाद साहू, सचिव पद के लिए बसंत प्रसाद, कमेश कुमार, मोतीलाल प्रसाद, विष्णुदेव् प्रसाद, अनंत प्रसाद और सुबोध प्रसाद को चुना गया। वही अन्य पदों के लिए संगठन मंत्री के रूप में विनोद प्रसाद, कुलदीप प्रसाद, मनोज कुमार, बसंत कश्यप और अरुण कुमार को चुना गया। संगठन का विस्तार करते हुए संजीत कुमार को संगठन महामंत्री का पद दिया गया। नवनिर्वाचित अध्यक्ष गुलाब प्रसाद साहू ने अपने वक्तव्य में कहा की वे एक सेवानिवृत शिक्षक है और सेवानिवृति के बाद वो अपना सम्पूर्ण समय समाज के उत्थान में देंगे। उन्होंने ये भी कहा कि कुछ स्वार्थी तत्वो के द्वारा अपने तुच्छ स्वार्थ के लिए सिमडेगा-कोलेबिरा समाज को बांटने का प्रयास किया गया है। हमारे वैचारिक मतभेद को लड़ाई का रूप देते हुए इसे राष्ट्रीय स्तर पर उछाला गया। संघ इस बात का कड़ा विरोध करता है और स्पष्ट करता है कि हमारे समाज के वैचारिक मतभेद को सुलझाने के लिए किसी बाहरी तत्व की आवश्यकता नही है। इसके अलावे विष्णुदेव प्रसाद, मनोज प्रसाद और मोतीलाल प्रसाद ने भी अपने वक्तव्य में इस तरह के आयोजन के लिए आयोजन समिति को बहुत बहुत धन्यवाद दिया। धन्यवाद ज्ञापन विजय कुमार के द्वारा किया गया।
बैठक में मुख्य रूप से, दिलीप प्रसाद, अजय कुमार, दिवाकर कुमार, मुरारी प्रसाद, श्यामबिहारी प्रसाद, अरुण प्रसाद, केदार प्रसाद, कमला देवी, रामलोचन प्रसाद, गणपत प्रसाद, बलराम प्रसाद, प्रभु प्रसाद सहित काफी संख्या में समाज के लोग उपस्थित थे।