गोला ( रामगढ़ ) । गोला थाना क्षेत्र कुसुमडीह जंगल में हाथियों के झुंड ने संजय महतो के इकलौते पुत्र रोशन कुमार 9 वर्ष को उसके मां ऐश्वर्या देवी के सामने ही बेरहमी से पटक-पटक कर मार डाला। सुबह करीब 8:00 बजे दोनों मां-बेटे शौच के लिए जंगल में गए थे। हाथियों ने सबसे पहले मृतक की मां को साल में पकने का प्रयास किया। हाथी का सूड उसके साल में फस गया। जिससे वह गिर गई। इसके बाद हाथी ने उसके बेटे को अपना शिकार बना लिया। हाथियों का झुंड पटकते हुए दूर तक ले गया। जिससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गया।
इधर घटना के बाद ग्रामीणों की भीड़ लग गई। इसकी जानकारी वन विभाग एवं गोला थाना को दी गई। घटनास्थल पहुंचे वन कर्मियों को ग्रामीणों ने जमकर विरोध किया। ग्रामीणों ने कहा कि वन विभाग हाथियों को भगाने में असफल साबित हो रही है। सिर्फ दिखावा के लिए काम कर रहा है। हाथियों का झुंड पिछले कई माह से आस पास के जंगलों में डेरा जमाए हुए हैं। लेकिन इन्हें भगाने में वन कर्मी ने कोई दिलचस्पी नहीं लेता। घटना की जानकारी मिलते के बाद विधायक ममता देवी घटनास्थल पर पहुंची। उन्होंने दूरभाष पर ठोस कदम उठाने और ग्रामीण क्षेत्र में सुरक्षा का उपकरणों की आपूर्ति करने का निर्देश दिया। घटना स्थल पहुंचे पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पीड़ित परिवार को वन विभाग की ओर से तत्काल ₹25000 का मुआवजा दिया। शेष राशि मृतक के परिवार को जल्द देने का निर्देश विधायक ममता देवी ने दिया।विधायक ने कहा कि हाथियों से लोगों को सुरक्षा देना वन कर्मियों का दायित्व है। लेकिन वन विभाग लापरवाह होते जा रहे हैं। जिसका बर्दाश्त हमारे गोला क्षेत्र के लोग नहीं करेंगे। मृतक के परिजनों को ₹400000(चार लाख) मिलने का प्रावधान है।
वहीं पूर्व पार्षद गोविंद मुंडा ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटना का जिमेदार वन कर्मियों को बताया। उन्होंने कहा कि वन कर्मी को सरकार किस लिए मोटी तनख्वाह देती है।
यह सभी लकड़ी माफिया पत्थर माफियाओं से सांठगांठ कर कार्य कर रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र में किसी तरह सुरक्षा का कोई व्यवस्था नहीं की जा रही है। उन्होंने इसकी शिकायत सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी से करने की बात कही।
संजय महतो का एकलौता पुत्र रोशन महतो था और दो बेटी है। किसी प्रकार मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था। घर का आर्थिक हालात अच्छी नहीं है। घटना के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। इस घटनास्थल पर मुख्य रूप से रामविनय महतो असगर अली गौरी शंकर ताज बीबी मेहता मुरली थाना प्रभारी सिद्धांत सुरेश मालिक उपस्थित थे।