चतरा | पत्थलगड्डा प्रखंड क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों में 14वें वित्त आयोग की राशि से निर्मित सोलर जलमीनार इन दिनों खराब पड़ी हुई है। खराब जलमीनार लोगों के लिए सफेद हाथी दांत साबित हो रहा है। वहीं प्रखंड के ग्राम सिंघानी पंचायत के भुईयां टोला, में हरिजन जाति के तीन सौ लोग रहते ग्रामीण सुरेश भुइयां ने बताया कि यह जलमीनार लगभग 6 महीने से खराब पड़े हैं पंचायत चुनाव नजदीक आते ही कई समाजसेवी मुखिया प्रत्याशी जल मीनार को बनाने के लिए अनेकों तरह के हथकंडे अपनाए लेकिन अभी तक यह जल मीनार नहीं बन पाया है जैसे ही पंचायत चुनाव की तारीख बढ़ी सभी नए प्रत्याशी अपने-अपने मद में दुबक गए अब यहां हम लोगो को पानी की किल्लत अधिक होने लगी है इस टोले के ग्रामीण पीने के पानी एवं नहाने धोने के लिए नदियों का सहारा ले रहे हैं आखिर यह कब तक बनेगा सारे सवाल हरिजन जाति के लोग कर रहे हैं वही कई अन्य स्थानों पर लगी जलमीनार बीते कई माह से खराब है। उक्त कारण से ग्रामीणों को पानी की किल्लतो का सामना करना पड़
पंचायत प्रशासन या संबंधित विभाग इसकी सुध नहीं ले रहा है। उससे लोगों को पीने के पानी के लिए काफी परेशानीयो का सामना करना पड़ रहा हैं ग्रामीणों ने बताया कि शुद्ध पीने के पानी का एकमात्र साधन उक्त सोलर जलमीनार ही है। उसके खराब हो जाने से करीब सौ घर के लोग दूर से पानी लाते हैं। जल मीनार खराब होने से लोगों को भारी फजीहत हो रही है। स्थानीय लोगों।ने कहा जलमीनार स्थल में अभी तक योजना का बोर्ड तक नहीं लगाया गया है। जलमीनार के बगल में सोख्ता का निर्माण भी नहीं किया गया है। जल मीनार के ऊपर रखा पानी टंकी बिना किसी सपोर्ट का है। जीससे टंकी भी फट चुका हैं। ग्रामीणों ने बताया कि मुखिया और पंचायत सचिव से कई बार इसकी शिकायत की गई, लेकिन इसकी सुध किसी ने नहीं ली।वहीं उपस्थित कई ग्रामीणों ने पेय जलमिनार बनाने के लिए स्थानीय जनप्रतनिधियों एवम् आला अधिकारियों से गुहार लगाई है ।