कुडू/लोहरदगा l कुडू रांची रोड एनएच 75 पर नवाटोली गांव के पास शनिवार एक जनवरी को सड़क दुर्घटना में घायल तिन युवकों में एक प्रकाश उरांव नामक युवक की इलाज के दौरान मौत हो गयी। बताते चलें कि दुर्घटना के बाद कुडू सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में प्राथमिक उपचार के बाद प्रकाश और उसके दोनो साथियों की गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे रिम्स रेफर कर दिया गया था। रविवार की सुबह प्रकाश का शव उसके गांव रूद बाण टोली लाया गया है। युवक की मौत से घर में कोहराम मचा है। पिता सहित 03 भाईयों की दुर्घटना में जा चुकी है जान गौर तलब है कि जनवरी वर्ष 2006 में बिरसा उरांव की मौत कुडू के ढुलुवा खूंटा पुल के समीप अज्ञात वाहन की चपेट में आने से हो गयी थी। उसके बाद मां और अपने 6 भाइयों की जिम्मेवारी दुसरे नंबर के भाई 20 वर्षीय जयचंद उरांव ने संभाली और राजस्थान के कुड़ी जिले स्थित इकोडेटर मेटल लिमिटेड नामक कम्पनी में काम कर अपने पुरे परिवार की आजीविका चला रहा था लेकिन नियति को कुछ और मंज़ूर था 21अक्टूबर 2017 को रेल लाइन पार करने के क्रम में ट्रेन की चपेट में अगया और उसकी दर्दनाक मौत हो गई। उसका छत विछत शव राजस्थान पुलिस ने रेलवे लाइन से बरामद किया था। उसके ठीक एक वर्ष बाद बड़ा भाई प्रेमचंद उरांव की मौत हडगडा मैदान में फौज में जाने की तय्यारी के लिए दौड़ लगाने के क्रम में गिरने से हो गई थी। और अब तीसरे बेटे प्रकाश उरांव की भी दुर्घटना में हुई मौत हो गयी। एक परिवार के साथ लगातार हो रही इन हृदय विदारक घटनाओं के बाद से घर – गांव ही नहीं पूरा क्षेत्र हलकान है। बूढी मां भीमसरिया उरांव सहित पुरे परिवार का रो रोकर बुरा हाल है। वहीं गांव में मायूसी छाई है।