1 जनवरी से 14जनवरी तक वनभोज के लिए विख्यात है।
15 जनवरी को किया जाता है मेला का आयोजन |

गोला ( रामगढ़ )। गोला प्रखंड क्षेत्र के सुदूरवर्ती गांव उपर खाखरा में रामगढ़ बोकारो मार्ग से 4 किलोमीटर दूर स्थित श्रीराम धारा फॉल पिकनिक स्पॉट के लिए आसपास के ग्रामीणों को लुभा रही है। श्रीराम धारा फॉल चारों ओर से घिरे जंगलों के बीच में सदियों से अपनी कल कलाहट पानी को धारा आसपास के ग्रामीण लोगों को आकर्षित करते आ रहे हैं।यह प्रकृति की गोद में बसा धारा है। जहां पर आसपास के सैकड़ों ग्रामीण आकर वन भोज मनाते हैं। जिस प्रकार से गोला क्षेत्र के विभिन्न स्थानों भैरवी जलाशय, स्वर्णरेखा नदी तट, भेड़ा नदी तट, गोमती नदी तट,में जिस प्रकार से आनंदित होकर नए साल के शुभ आगमन पर वन भोज, पिकनिक स्पॉट मनाते हैं उसी प्रकार श्रीराम धारा फॉल भी एक अपने आप में महत्वपूर्ण स्थान रखती है। यह स्थान बहुत ही शांतिपूर्ण जगह में चारों ओर से जंगलों से घिरे हुए बीच में अवस्थित है। यहां पर साल भर धारा प्रवाहित होते रहती है। यहां भगवान श्री राम लक्ष्मण सीता का एक मंदिर है। जिस धारा से पवित्र होकर आसपास के ग्रामीण और पिकनिक स्पॉट में आए पर्यटक स्नान कर श्री राम लक्ष्मण सीता की पूजा अर्चना कर नए साल की शुरुआत करते हैं। आसपास के क्षेत्र के लिए एक बहुत मनमोहक आकर्षित जगह है। यदि इस क्षेत्र को पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किया जाए तो आसपास के ग्रामीणों को एक बहुत बड़ी उपलब्धि के साथ-साथ रोजगार का साधन प्राप्त होगा। क्योंकि इस क्षेत्र आदिवासी बहुल क्षेत्र है। जिनका आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।इस गांव के बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए आवागमन में भी काफी समस्याएं होती है। जिसके कारण इस आसपास के गांव के लड़का लड़कियां बहुत कम उच्च शिक्षा प्राप्त कर पाती है। यदि यह पर्यटक स्थल के रूप में विकसित हो जाने से आवागमन का सुविधा भी उपलब्ध हो जाएगा। साथ ही साथ इनके परिजनों को एक बहुत बड़ी रोजगार हाथ में आ जाएगा। इस पर्यटन क्षेत्र में अपना बिजनेस कर जीवन यापन कर सकते हैं। और बच्चों को उच्च शिक्षा दिला सकते हैं। इस गांव के लगभग 95% लोग आदिवासी है। जो अपनी दातुन पतई सूखी लकड़ियां बेचकर जीवन यापन कर रहे हैं। इस क्षेत्र को विकसित करने के लिए जनप्रतिनिधि और सरकार की सहयोग की जरूरत है।