हजारीबाग। नव वर्ष की खुशी उत्तरी छोटानागपुर के प्रमंडलीय विशप जोजो आनंद के साथ भुसवा एवं सिजुआ बिरहोर मंडा में मनाना आनंददायक रहा है विशाप जोजो आनंद ने कहा की दीन दुखियों का सेवा ईश्वर सेवा है आत्म शांति एवं आत्मा एवं शरीर निरोगी रहने के लिए दीन दुखियों की नि:स्वार्थ सेवा करते रहना चाहिए।
उत्तरी छोटानागपुर के प्रमंडलीय अध्यक्ष डॉ आरसी मेहता ने कहा की बिरहोर आदिम जनजाति के लोग ईमानदार एवं मेहनत कस है। इनके बच्चे कुशाग्र एवं बुद्धिजीवी है इन्हें उचित शिक्षा की जरूरत है। बिरहोर परिवारों के पिछड़े होने का मुख्य कारण नशा है समाज से आग्रह है बिरहोर को नशा से वंचित रखें सरकार से आग्रह है कि बिरहोर मंडा के आसपास नशा बेचने वाले को दंडित किया जाए। बिहार के विकास हेतु और मंडा मैं एक चौकीदार की बहाली किया जाए जो इन लोगों का उचित मार्गदर्शन करेंगे।
मानव विकास के संस्थापक बीरबल प्रसाद ने कहा की बिरहोर सेवा मानव विकास का मुख्य श्रृंखला है।
उत्तरी छोटानागपुर मिशनरी के द्वारा सैकड़ों लोगों को कंबल और गर्म कपड़े का वितरण किया गया। वितरण समारोह में मुख्य रूप से बिरहोर मंडा के शिक्षक मेघनाथ यादव पारा शिक्षक आनंद यादव सिझुवा मुखिया पति रंजीत मेहता समाजसेवी मुकेश उपाध्याय रूद के समाजसेवी तुलेश्वर साव। रमेश मेहता, श्याम देव मेहता सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे