जमशेदपुर । विपरित परिस्थितियों में हमें जीना भी है, जीविका भी चलानी है, डर का सामना डट कर करेंगे… श्री बन्ना गुप्ता, स्वास्थ्य मंत्री

देश के वैज्ञानिकों का धन्यवाद, स्वदेशी निर्मित को-वैक्सीन 15-18 आयु वर्ग को लगाया जाना है… श्री सूरज कुमार, जिला उपायुक्त

कार्यक्रम में वैक्सीनेशन कोषांग के वरीय पदा.-सह-एसडीएम धालभूम, सिविल सर्जन, वैक्सीनेशन कोषांग के नोडल-सह-डीएसओ, एसीएमओ, डीआरसीएचओ, करीम सिटी कॉलेज प्रबंधन के प्रतिनिधि एवं छात्र-छात्राएं मौजूद रहे

माननीय स्वास्थ्य मंत्री, झारखंड श्री बन्ना गुप्ता द्वारा आज करीम सिटी कॉलेज से पूर्वी सिंहभूम जिले में 15-18 आयु वर्ग के कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया। गौरतलब है इस देशव्यापी टीकाकरण अभियान में पूर्वी सिंहभूम जिला प्रशासन द्वारा सभी स्कूलों एवं कॉलेजों में टीकाकरण अभियान संचालित करने का निर्णय लिया गया है जिसके पहले दिन आज शहर में 8 स्थाई केन्द्र तथा ग्रामीण क्षेत्र के 20 टीका केन्द्रों में उक्त आयु वर्ग का टीकाकरण किया जा रहा है । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माननीय स्वास्थ्य मंत्री श्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि हमलोग विभिषिका के तीसरे दौर में हैं। राज्य में लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में वृद्धि हो रही है जिसको लेकर राज्य के मुख्यमंत्री काफी संवेदनशील हैं तथा इस संबंध में जल्द ही ठोस निर्णय लिया जाएगा । उन्होने कहा कि पहले के दोनों लहर काफी वेदना देने वाले रहे जिसमें हमने हजारों-हजार लोगों को खोया है। ऐसे में राज्य एवं जिले के सभी 15-18 आयु वर्ग के बच्चों से अपील है कि अपना टीकाकरण जल्द करायें। उन्होने जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों एवं कर्मियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आप सभी की जीवटता से राज्य ने पहले दोनों लहर की विभिषिका को भलिभांति पार किया है । उन्होने बताया कि तीसरे लहर को लेकर फिलहाल कोई स्पष्ट जानकारी नहीं है कि इसकी तीव्रत क्या है तथा कितना प्रभाव छोड़ेगा लेकिन हमें चिंतित होने के साथ-साथ धैर्य के साथ काम लेना है। विपरित परिस्थितियों में हमें जीना भी है, जीविका भी चलानी है तथा खुद सुरक्षित रहते हुए दूसरे लोगों को भी कोराना संक्रमण से सुरक्षित रखना है। माननीय स्वास्थ्य मंत्री ने उपस्थित जनसमूह को राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर द्वारा रचित कविता ‘रश्मिरथी’ की पक्तियां ‘सच है विपत्ति जब आती है, कायर को ही दहलाती है’ का पाठ कर हौसलावर्धन करते हुए कहा कि हम सभी डर का सामना डट कर करेंगे।

जिला उपायुक्त श्री सूरज कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि जिले में 15 से 18 आयु वर्ग में 1 लाख 66 हजार बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य है जिसे प्रयास होगा कि जल्द से जल्द हासिल किया जाए। उन्होने कहा कि इससे पहले के दोनों लहर में सीमित चिकित्सीय संसाधनों के साथ नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें देने का प्रयास किया गया, तीसरे लहर में भी जिला प्रशासन पूरी तरह तैयार है लेकिन किसी भी नागरिक को इस बिमारी को हल्के में नहीं लेना है । उन्होने बताया कि दूसरे लहर का उदाहरण हम सभी के सामने है जहां कोविड टीका ले चुके लोगों के संक्रमित होने के बावजूद उनके स्वास्थ्य पर ज्यादा प्रतिकूल असर नहीं पड़ा। जिला उपायुक्त ने समस्त नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि स्वयं वैक्सीन लेने के साथ-साथ अपने आस-पड़ोस के लोगों, मित्रों को भी कोविड डोज लेने के लिए प्रेरित करें। उन्होने कहा कि कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहने का एकमात्र उपाय कोविड टीकाकरण तथा कोविड अनुचित व्यवहार का अनुपालन है, ऐसे में सभी नागरिक अपनी स्वास्थ्य सुरक्षा का विशेष ध्यान रखें एवं टीकाकरण करायें।

इस अवसर पर वैक्सीनेशन कोषांग के वरीय पदा.-सह-एसडीएम धालभूम श्री संदीप कुमार मीणा, सिविल सर्जन डॉ ए.के लाल, वैक्सीनेशन कोषांग के नोडल-सह-डीएसओ श्री राजीव रंजन, एसीएमओ डॉ साहिर पाल, डीआरसीएचओ डॉ जुझार मांझी,विशेष पदाधिकारी जेएनएसी, करीम सिटी कॉलेज प्रबंधन के प्रतिनिधि एवं लाभार्थी छात्र-छात्राएं मौजूद रहे