उपायुक्त हकीकत जानने घटनास्थल पंहुचे |

सिमडेगा | मंगलवार को कोलेबिरा थाना क्षेत्र के बेसराजारा गांव में भीडतंत्र ने तालिबानी रूख अपनाते हुए संजु प्रधान नामक युवक को घायल कर जिंदा जला दिया। घटना के बाद मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने ट्विट कर सिमडेगा जिला प्रशासन को मामले की तहकीकात कर उचित कार्रवाई करते हुए उन्हे रिपोर्ट करने का निर्देश दिया। इसके बाद बुधवार को उपायुक्त सिमडेगा सुशांत गौरव एवं पुलिस कप्तान डाॅ शम्स तब्रेज ने प्रशासनिक दृष्टिकोण से कोलेबिरा के बेसराजारा में लकड़ी काटने के आरोप में उग्र भीड़ द्वारा जिंदा जला दिए जाने वाले मामले को लेकर पीड़ित परिवार से मुलाकात करने और मामले का तहकीकात करने बेसराजरा गांव पहुंचे और शोकाकुल परिवार को ढांढ़स बन्धाया*

इधर सीएम के निर्देश के बाद बुधवार को उपायुक्त ने बेसराजरा गांव पहुंच जलाए गए स्थल का अवलोकन किया। उपस्थित थाना प्रभारी, पुलिस पदाधिकारी से घटना के तथ्यों के बारे में खेत में बने लकड़ी के शेड पर बैठ जानकारी ली। मृत व्यक्ति के भाई के कहेनुसार तीन सौ से अधिक बम्बलकेरा के व्यक्ति थें, जो उसके भाई संजु को घर के दुकान से बैठक के बहाने बुलाकर ले गए और मिल कर मारने लगे। एक साथ इतने अधिक संख्या में ग्रामीणों का हुजूम का आना और एक व्यक्ति को जंगल से लकड़ी काटने के आरोप में मिलकर ग्रामीणों द्वारा मार डालना, कई तथ्यों को उजागर करने की ओर इंगित करता है।

ग्राउण्ड जीरो से तहकीकात के क्रम में बन्दरचुंआ मुखिया पुनम बेरोनिका केरकेट्टा, ग्राम प्रधान बेसराजरा प्रफुल समद, वार्ड सदस्य अनजोर डुंगडुंग ने कहा कि घटना के बारे में उन्हे कोई जानकारी नही है, वे मौके पर नहीं थे। सभी आवश्यक जानकारी देने से मुकर गये।उपायुक्त ने मौके पर घटना के हर एक कड़ी की समीक्षा की। मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में जांच टीम का गठन किया जा चुका है। दिये गये अंजाम की घटना की पुरी तरह तहकीकात की जाएगी, जिसके उपरांत प्रेस के माध्यम से घटित घटना के पुख्ता जानकारी पेश करते हुए सूचित किया जायेगा। उपायुक्त ने घटना के तहकीकात के क्रम में शोकाकुल परिवार से भी मुलाकात की। ढांढ़स बन्धाते हुए भरोसा जताया कि इस प्रकार से हुई घटना के दोषी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसी घटना दुबारा जिले में घटित न हो, इस हेतु जिला प्रशासन सख्त रूख अपनायेगा। उन्होने बीडीओ को स्व संजु प्रधान की पत्नी को अम्बेडकर आवास की योजना एवं विधवा पेंशन योजना का लाभ तत्काल देने की बात कही। परिजनों को रोजगार सृजन योजना के तहत् आजीविका का साधन सृजित करने की बात कही। सपना देबी को महिला समूह से जोड़ने का निर्देश दिया। बेसराजरा में एससी-एसटी समुदाय के लोग निवास करते है। सुरक्षा की दृष्टि से दो हाई मास्क लाईट व स्ट्रीट लाईट का अधिष्ठापन तत्काल करने का निर्देश दिया। पेयजल अभियंता को गांव में पेयजल की सुविधा बहाल का निर्देश दिया। वन विभाग के पदाधिकारी को जंगल के सभी पेड़ों में गिनती कर पेन्टींग कराने का निर्देश दिया। लकड़ी का अवैध तस्करी जिले में पुरी तरह बन्द करने का निर्देश दिया। बाजार में हब्बा डब्बा के अवैध कारोबार को पुरी तरह बन्द कराने का निर्देश दिया।

मौके पर आईटीडीए निदेशक सलन भुईंया, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अजय बड़ाईक, अंचलाधिकारी कोलेबिरा, ठेठईटांगर, थाना प्रभारी कोलेबिरा, ठेठईटांगर, मुखिया, ग्राम प्रधान, वार्ड सदस्य व अन्य उपस्थित थे।