लिट्टीपाड़ा ( पाकुड़ ) । बुधवार को चितलोफॉर्म में आदिवासी चिरगाल जुवान पाकुड़ की ओर से पिकनिक सह हेलमेल कार्यक्रम का आयोजन किया गया इस कार्यक्रम मे आदिवासी चिरगाल जुवान संगठन कैसे मजबूत हो इस पर विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया ।इस बैठक कार्यक्रम तीन प्रखंडों लिट्टीपाड़ा ,आमड़ापाड़ा ,हिरणपुर के बुद्धिजीवी व कार्यकर्ता ने हिस्सा लिया। सभी प्रखंडों से कार्यकर्ता ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया गया । तीनों प्रखंडों से हजारों की तादाद में एक साथ इस बैठक में सभी ने भाग लिया गया।सभी उपस्थित कार्यकर्ताओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लेकर अपनी अपनी बतों को रखा गया। इस बैठक में आदिवासी युवा संगठन को मजबूत को लेकर विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया अपने हक और अधिकार के लड़ाई के लिए संगठन मजबूत हो इस पर विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया ।कैसे आदिवासी युवा आगे बढ़े इसको लेकर भी विस्तार पूर्वक चर्चा हुई।बैठक में सिदो कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय कॉलेज दुमका के प्रोफेसर निर्मल मुर्मू भी शामिल हुए। उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि आदिवासी आज भी हम लोग पिछड़ा है अपने हक और अधिकार से वंचित है सरकार मे आदिवासी मुख्मंत्री ही बैठते है लेकिन आदिवासीयों की उत्थान के लिए कुछ नहीं करते है।

आदिवासी हक के लिए आवाज नहीं उठाते है,आदिवासी युवा संगठन को रोजगार के लिए पलायन करना पड़ता है।
बेरोजगार के लिए नौजवान भटक रहे है।रोजगार से नौजवान कैसे जोड़े,इसको लेकर भी विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया श्री मुर्मू ने कहा इस संगठन के माध्यम से अपने हक, अधिकार के बारे में हम लोग लड़ाई लड़ेंगे मिलके एकता होकर इस संगठन को मजबूत करना है और अपने अधिकार के लिए आवाज उठाना होगा अपने-अपने क्षेत्रों में इस संगठन को विस्तार करना है इसको लेकर विस्तार पर चर्चा किया गया उन्होंने कहा कि हर हाल में आदिवासी युवा पीढ़ी आगे आए और अपने अधिकार के लिए लड़े हम लोग आने वाला दिन में अपना अधिकार से हमलोग वंचित ना । श्री मुर्मू ने कहा हम सब मिलकर इस संगठन को पूर्ण रूप से विस्तार करेंगे ।मंच संचालन बिनायलाल मरांडी ने किया

इस बैठक में मुख्य रूप से लिट्टीपाड़ा प्रखंड से सोम बेसरा,भीषण हेब्रम, चार्लेस हेब्रम,राजाधन सोरेन, हिरणपुर प्रखंड से मानवेल सोरेन, अामड़ापाड़ा प्रखंड से मर्सल मरांडी आदि मौजुद थे।