हजारीबाग । जिला कांग्रेस कार्यालय कृष्ण बल्लभ आश्रम में शनिवार को अमर शहीद टिकैत उमरांव सिंह व अमर शहीद शेख भिखारी की 164 वीं पुण्यतिथि ” शहादत दिवस ” के रुप में मनाई गई । इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने दोनो शहीदों के के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित कर उनहे भावभीनी श्रद्धांजलि दी ।
कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह ने किया । अध्यक्ष ने अपनी श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि झारखंड के इतिहास में प्रसिद्ध अमर शहीद टिकैत उमरांव सिंह का जन्म ओरमांझी प्रखंड के खंटवा गांव में हुआ था । यह बारह गांव के जमींदार हुआ करते थे । अंग्रेजों ने उनके घर को डाह दिया था । टिकैत उमरांव सिंह हमेशा से शोषण और अत्याचार के खिलाफ रहे और अंग्रेजों के विरोध की आवाज बुलंद कि उन्होंने 1857 ईस्वी के विरोध का पुरा छोटा नागपुर में फैलाया । अंग्रेजों से लड़ाई करते हुए इन दोंनो को 06 जनवरी 1958 को घेर कर अंग्रेजों द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया और 07 जनवरी 1958 को उसी जगह चुटु पालु घाटी पर फौजी अदालत लगाकर उनकी विरता और साहस से भयभीत अंग्रेजों नें कार्यवाई पुरा किए बिना दोनो को फांसी का फैसला सुनाया । और 08 जनवरी 1958 को आजादी के दिवाने शेख भिखारी और टिकैत उमरांव सिंह को चुटु पालु पहाड़ी स्तिथ बरगद के पेड़ से लटका फांसी दे दी गई ।
मौके पर पूर्व अध्यक्ष जवाहर लाल सिन्हा, आबिद अंसारी, भीम कुमार, राम लखन सिंह, शशि मोहन सिंह, विरेन्द्र कुमार सिंह, अशोक देव, उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता निसार खान, लाल बिहारी सिंह, बिनोद सिंह, सरयू यादव, शिव नंदन साहू, नरेश कुमार गुप्ता, मिथिलेश दुबे, सलीम रजा, सुनिल अग्रवाल, राजू चौरसिया, के.डी सिंह, विजय कुमार सिंह, सदरूल होदा, युवा कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष प्रकाश यादव, मनोज नरायण भगत, शैलेन्द्र कुमार यादव, डाॅ. प्रकाश, शुभम शर्मा, राजीव कुमार मेहता, बाबर अंसारी, मो. रब्बानी, गुलाम शाबिर, मो.माशूक, अमृतेष रंजन, मुगेश्वर प्रसाद चौधरी,मदन मोहन सिंह ,देवधारी प्रसाद मेहता, के अतिरिक्त कई कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे ।