लोहरदगा । गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती मनाई गई लोहरदगा बाबा मठ प्रांगण में सिक्खों के दसवें गुरु, गुरु गोबिंद सिंह जी की जयंती (प्रकाश पर्व) मनाया गया. कोरोना को देखते हुए इस बार शोभायात्रा ,लंगर, भंडारा आदि का कार्यक्रम स्थगित रखा गया एवँ कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए आज पाठ ,अरदास आरती ,कीर्तन के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ .इस मौके पर पुरोहित गोपाल पांडे ने गुरु महाराज के जीवन पर व्याख्या करते हुए बताया कि महान संत गुरु गोबिंद सिंह जी का जन्म पौष माह की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को सन 1666 में बिहार के पटना शहर में हुआ था। गुरु गोविंद सिंह जी सिक्खों के 10वें गुरु थे और गुरु गोविंद सिंह जयंती उन्हीं के सम्मान में मनाई जाती है। सामाजिक कार्यकर्ता कवलजीत सिंह ने बताया कि गुरु महाराज में भक्ति और शक्ति का आदित्य संगम था, उन्होंने देश और धर्म के वास्ते अपना सब कुछ न्यौछावर किया था .आज उनके दिखाए रास्ते पर हम लोगों को चलने की आवश्यकता है और देश ,धर्म की रक्षा के लिए हमें हमेशा तत्पर रहना चाहिए .इस मौके पर मुख्य रूप से आशुतोष पाठक ,अविनाश कौर, अमृता कौर, जितेंद्र सिंह ,राजेश शर्मा संजीव शर्मा, विपुल खत्री बिट्टू वर्मा, रोहित प्रजापति ,विनय सिंह सुबोध राय, दिनेश गुप्ता ,सौरव समीर ,मयंक ,रौशन ,अभिषेक ठाकुर,जस कौर, प्रभजोत सिंह, करमन सिंह ,सिमरत कौर, परमजीत जग्गी, टिंकू कुमार,मंटू साहू आदि उपस्थित थे l