हजारीबाग। छात्र नेता चंदन सिंह पर विधि महाविद्यालय के प्राचार्य के द्वारा मुक़दमा दर्ज करने के लिए दिया गया आवेदन पूर्ण रूप से साज़िश का हिस्सा है।उक्त बातें झारखंड मुक्ति मोर्चा के पूर्व केंद्रीय अध्यक्ष(बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ) सह केंद्रीय सदस्य कमल नयन सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दिया।उन्होंने बताया कि झारखंड मुक्ति मोर्चा और उसका छात्र संगठन लगातार विश्वविद्यालय की ग़लत नीतियों का विरोध करते रहा है,जिसके फलस्वरूप पूर्व में भी छात्र नेताओं पर विश्वविद्यालय ने मुक़दमा दर्ज किया है।इन सारी घटनाओं की जानकारी हमने सूबे के मुख्य मंत्री को करवाई है।अभी हाल में हमारे छात्र नेता पर विधि महाविद्यालय के प्राचार्य जयदीप सान्याल के द्वारा मुक़दमा दर्ज करने का आवेदन दिया गया है जो बिल्कुल बेबुनियाद है।छात्र नेताओं के द्वारा प्राचार्य की ग़लतियों को उजागर करना उनके नामांकन में की गई धांधली को सामने लाने का परिणाम यह है की प्राचार्य ने झूठा आवेदन दिया है।झारखंड मुक्ति मोर्चा मुख्यमंत्री से जल्द ही मिल कर पूरे मामले की उच्य स्तरीय जाँच प्राचार्य पर करने की माँग करेगा।प्राचार्य के द्वारा किए सारे अवैध कार्यों की और नामांकन में की गई धांधली का पुरज़ोर विरोध होगा।