सेन्हा/लोहरदगा। घाटा में चार से पांच माह पूर्व से चापानल खराब की सूचना पर जीप सदस्य पहल कर पेयजल समस्या को सोमवार किया निदान ग्रामीण महिलाओं के विश्वास पर उतरे खरा सेन्हा प्रखंड अंतर्गत घाटा ग्राम की महिलाओं ने रविवार को पेयजल समस्या से जीप सदस्य रामलखन प्रसाद को अवगत कराते हुए बताया कि विगत चार पांच माह से चापानल खराब होने के कारण 25 से 30 घर के लोग कुएं का पानी पीने को मजबूर है। बताते हुए चापानल मरमती एवं जलमीनार निर्माण का मांग किया गया था। ग्रामीण महिलाओं द्वारा पेयजल समस्या निदान की मांग को गम्भीरता पूर्वक लेते हुए 24 घटना के अंदर जीप सदस्य ने पेयजल समस्या चापानल मरमती करवा कर ग्रामीण महिलाओं की गुहार पर पेयजल संकट निदान करवा डाले। जिससे घाटा ग्राम की महिलाएं प्रेममनी पन्ना ,सरिता देवी, मालो देवी, प्रमिला उराँव, लाबी उराँव सहित अन्य महिलाओं ने जीप सदस्य के प्रति आभार प्रकट करते हुए उनके द्वारा किए गए कार्य का सराहना की। साथ ही जलमीनार निर्माण के लिए आग्रह की है। जिला परिषद सदस्य रामलखन प्रसाद ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में जनसमस्या का निदान करना हम जनप्रतिनिधियों का पहला कर्तव्य होना चाहिए जिससे जनता को मूलभूत सुविधाएं मुहैया हो सके। बताते हुए उन्होंने कहा पेयजल समस्या निदान के लिए ग्रामीण महिलाएं के माध्यम से अवगत होते ही पीएचडी विभाग के कर्मचारी को फटकार लगाते हुए खराब चापानल मरमती कराया गया है। आगे भी इसी प्रकार जनता के बीच उतपन होने वाली जनसमस्या का पहल करने में कदम उठाने की बात कही गई। साथ ही प्रखंड वासियों से अपील किया कि किसी प्रकार की जनसमस्या हो उससे अवगत कराएं इस प्रकार ग्रामीणों का सेवा करने का अवसर पर ग्रामीणों के प्रति आभार प्रकट करते हुए जलमीनार निर्माण के लिए पहल करने की बात कही गई।