कोडरमा। फारेस्ट की जमीन पर कई एकड़ भूमि में अफीम की खेती करने का मामला प्रकाश में आया है। चंदवारा थाना क्षेत्र के बेंदी पंचायत के बिलारो गांव में करीब 20 एकड़ भूमि पर अफीम की खेती की जा रही थी। जानकारी के अनुसार वनाधिकार संघर्ष समिति,बेंदी के द्वारा 2010 और 2015 में प्रशासन को लिखित आवेदन देकर,बाहरी लोगों को यहां बसाने से विधि व्यवस्था और गांव की माहौल गड़बड़ाने की शिकायत की थी। अब उसी क्षेत्र में पुलिस और वन विभाग की टीम ने छापेमारी की है, जहां कई एकड़ में अफीम की फसल खेतो में लगी थी। जानकारी के अनुसार जहां अफीम की खेती की जा रही थी, वहाँ पटवन के लिए मोटर चलाकर पानी खेतो में पहुंचाया जाता था। पुलिस और वन विभाग ने अफीम की खेती को ट्रैक्टर चलाकर नष्ट कर दी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अफीम की खेती करवाने में रविन्द्र मुंडा समेत कई लोगों का नाम सामने आ रहा है। छापेमारी में डीएसपी संजीव सिंह, चंदवारा थाना प्रभारी दुष्यंत सिंह,एसआई रंजीत सिंह, सहित वन विभाग के रेंजर, वनपाल, वनरक्षी भी मौजूद थे।
इधर डीएसपी मुख्यालय संजीव सिंह ने पूछे जाने पर 10 एकड़ भूमि में अफीम की खेती होने की पुष्टि की है। साथ ही कहा कि पूरे मामले की जांच की जाएगी। खेती कराने में जो भी शामिल होगा उसपर कार्रवाई करने की बात कही। डीएसपी ने अफीम की खेती मामले में एफआईआर दर्ज करने की बात कही।