कटकमसांडी (हजारीबाग)। सम्बन्धित विभाग की लापरवाही व उदासीनता के कारण प्रखंड क्षेत्र के एदला गांव में 14वें वित्त से लगा सोलर संचालित जलमीनार सफेद हाथी बनकर रह गया है। मालुम हो कि14वें वित्त आयोग की लगभग 3,84,691 राशि के लागत से जलमीनार का निर्माण कराया गया है। यह जलमीनार विभाग व संवेदक के उदासीनता के कारण दिखावा मात्र बनकर रह गया है। ग्रामीणों का कहना है कि तीन महीने पूर्व से ही जलमीनार खराब है, जिसकी शिकायत मुखिया से भी की गई, परंतु अब तक खराब जलमीनार को दुरुस्त कर जलापूर्ति प्रारंभ नही कराई गई। ज्ञात हो कि इस जल मीनार से आसपास के लगभग 150 घरों के लोग पेयजल के लिए निर्भर है। ग्रामीणों को फिलहाल पेयजल समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने जलमीनार से पेयाजलापूर्ति चालू करने को लेकर उपायुक्त हजारीबाग से शिकायत करने की बात कही है।