हजारीबाग । मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक बार फिर प्रबंधन की लापरवाही और अस्पताल परिसर में सुरक्षा पर सेंध लगाने का मामला प्रकाश में आया है। कोरोना की तीसरी लहर को लेकर जहां जनमानस परेशान है वहीं एचएमसीएच में स्वास्थ्य व्यवस्था की तैयारी का कार्य चल रहा है। ऐसे में एचएमसीएच परिसर अवस्थित मेल सर्जिकल वार्ड के एक कमरा जिसे कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए आरक्षित किया गया था और यहां ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछाई गई थी जिससे करीब 15 बेडों तक बेड- टू- बेड ऑक्सीजन पहुंचाने का कार्य किया जाना था। आपदा के इस समय में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए किए जा रहे इस प्रयास पर अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही और सुरक्षा में भारी चूक के कारण इस कमरे में लगाए गए ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी हो गई है। इससे पूर्व कोरोना की दूसरी लहर के दौरान यहां ऑक्सीजन सिलेंडर चोरी का मामला प्रकाश में आया था और पूरा हजारीबाग संपूर्ण देश-दुनिया में शर्मसार हुआ था ।

एचएमसीएच के मेल सर्जिकल वार्ड में ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी के मामले को लेकर हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल के निर्देश पर उनके मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी ने सोमवार को घटनास्थल पर पहुंचकर इसका जायजा लिया और फ़िर विधायक मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी ने एचएमसीएच के सुपरिटेंडेंट डॉ. विनोद कुमार और डिप्टी सुपरिटेंडेंट डॉ.ए.के.सिंह से मुलाकात की और अस्पताल के एक महत्वपूर्ण वार्ड के अतिसंवेदनशील कमरे से अपराधियों द्वारा बेड के ऑक्सीजन पाइपलाइन को काटकर चोरी किए जाने की घटना को अस्पताल प्रबंधन और अस्पताल की सुरक्षा की भारी चूक बताते हुए यहां का सीसीटीवी फुटेज खंगालने और इसे गंभीरता से लेते हुए इस पर अग्रसर कार्रवाई करने की मांग की। विधायक मीडिया प्रतिनिधि रंजन चौधरी के बातों को गंभीरता से लेते हुए तत्काल एचएमसीएच के सुपरिटेंडेंट डॉ.विनोद कुमार और डिप्टी सुपरिटेंडेंट डॉ.ए.के. सिंह ने यहां का सीसीटीवी मॉनिटरिंग करने वाले जिम्मेवार व्यक्ति सुकेश को तत्काल सीसीटीवी फुटेज खंगालने का निर्देश दिया और बताया की हम लोग अपने स्तर से छानबीन कर रहे हैं और उचित करवाई भी अवश्य करेंगे ।

ऑक्सीजन पाइपलाइन चोरी की मामले को हजारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल ने अमानवीय कृत्य बताया है और कहा की कोरोना आपदा की इस घड़ी में जब लोग एक- दूसरे को सहयोग पहुंचा रहे हैं, ऐसे समय में इस प्रकार का हरकत किया जाना मानवता के ख़िलाफ़ हैं। विधायक मनीष जायसवाल ने यह भी कहा कि पूरे झारखंड का लॉ एंड ऑर्डर वर्तमान गठबंधन की सरकार में पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है। अस्पताल जैसे संवेदनशील जगह से ऑक्सीजन पाइपलाइन का चोरी होना दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और जल्द अस्पताल प्रबंधन और जिला प्रशासन को दोषियों को चिन्हित कर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए ।