हजारीबाग। आईसेक्ट विश्वविद्यालय, हजारीबाग के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की ओर से “कोरोना काल में मुख्यधारा एवं वैकल्पिक मीडिया का सामाजिक प्रभाव” विषय पर एक दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन आगामी 17 जनवरी को किया जाएगा। इसे लेकर विश्वविद्यालय के सभाकक्ष में मंगलवार को बैठक का आयोजन कुलसचिव डॉ मुनीष गोविंद की अध्यक्षता में की गई। बैठक में वेबीनार को सफल बनाने को लेकर महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की गई। कुलसचिव डॉ मुनीष गोविंद ने बताया कि कोराना महामारी के दौरान विद्यार्थियों के साथ साथ आम लोगों को जागरूक किए जाने की सख्त ज़रूरत है। साथ ही ऐसे समय में विभिन्न विषयों पर वेबीनार के ज़रिए जानकारी पंहुचाना भी अहम है। उन्होंने बताया कि इसी के मद्देनज़र आगामी 17 जनवरी को दिन के 11 बजे से 1 बजे तक विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग की ओर से वेबीनार का आयोजन किया गया है, जिसमें मध्यप्रदेश माध्यम के रोजगार और निर्माण के एडिटर-इन-चीफ पुष्पेन्द्र पाल सिंह व द फोलोअप, वेब चैनल के को-फाउंडर सन्नी शरद बतौर वक्ता विशेष रूप से आमंत्रित हैं। बताते चलें कि इस वेबीनार में मुख्य संरक्षक विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ पीके नायक जबकि संरक्षक के तौर पर कुलसचिव डॉ मुनीष गोविंद होंगे। साथ ही विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर आईसेक्ट विश्वविद्यालय के डीन एकेडमिक डॉ बिनोद कुमार व डीन एडमिन डॉ एसआर रथ वेबीनार में शिरकत करेंगे। इस कार्यक्रम के संयोजक पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ ललित कुमार, सह-संयोजक जनसंपर्क अधिकारी शमीम अहमद, समाज शास्त्र व एमएसडब्ल्यू के सहायक प्राध्यापक शिवजी एवं नरेश गौतम, कला एवं मानविकी विभाग के डीन डॉ रूद्र नारायण, सामाजिक विज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ श्वेता सिंह ने संयुक्त रूप से इस वेबीनार में विद्यार्थियों समेत आमजनों से भी जुड़ने की अपील की है ताकि इस वेबीनार का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके।