हजारीबाग। दामोदर घाटी निगम के परियोजना में विश्व हिन्दी समारोह का आयोजन किया गया । इस कार्यक्रम में दामोदर घाटी निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया ।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय कुमार, निदेशक (भूसंवि) व परियोजना प्रमुख एवं अध्ययक्ष, राभाका उप समिति तथा विशिष्ट अतिथि संजय कुमार सिंह, प्रबंधक (वित्त), लेखा कार्यालय, राहुल रंजन, उप निदेशक(मासं), दाघानि, हजारीबाग थे ।
मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जिवलित कर समारोह का शुभारंभ किया गया । विशिष्ट अतिथि संजय कुमार सिंह ने राजभाषा अनुभाग द्‌वारा किए जा रहे प्रयास की सराहना करते हुए उप प्रबंधक (राजभाषा) से आगे भी इसी तरह की कार्यक्रमों को आयोजित करने की कामना की जिससे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिन्दी में कार्यालयीन कार्य करने का उत्सााह बना रहे । संजय कुमार सिंह ने राजभाषा अनुभाग, हजारीबाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की एवं इसे इसी तरह बरकरार रखने की अपील की ताकि दामोदर घाटी निगम में सभी कार्यालयीन कार्य हिन्दी में होता रहे ।
मुख्य अतिथि संजय कुमार ने विश्व हिन्दी दिवस के महत्व को बताते हुए कहा कि 10 जनवरी 1975 में नागपुर में प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन का आयोजन किया गया था, उसी को याद करते हुए भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने समुचे विश्व में विश्व हिन्दी दिवस के आयोजन हेतु 10 जनवरी, 2006 से शुरूआत की । समुचे दुनिया में हिन्दी शोध, विज्ञान, साहित्य की भाषा बने और संयुक्त राष्ट्रु संघ की अधिकारिक भाषाओं में हिन्दी को शामिल किया जाय । इसी उद्देश्य को लेकर विश्व हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन किया जाता रहा है ।
कार्यक्रम के दौरान रजक , नीलू रजक, संजय कुजूर, धीरज कुमार, सुनील कुमार, अरूण कुमार सिंह, मदन कुमार, शंकर सिंह आदि उपस्थित थे । कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ० जितेंद्र झा ने किया । कार्यशाला के आयोजन में सुनील कुमार, गनेश बाबा की महती भूमिका रही ।