खतरे में हवाईपट्टी,आठ लेन सड़क निर्माण के कारण धंस रही नींव

धनबाद। धनबाद के लोगों को हवाई अड्डा नहीं मिलने के मलाल के बीच हवाई पट्टी भी खतरे में पड़ गई है. महत्वाकांक्षी योजना के तहत आठ लेन सड़क निर्माण ने ध्वंस के भी कुछ उदाहरण पेश किये हैं. रोजी-रोटी कमाने वाले गरीबों की झोपड़ियां, गुमटी, पेड़ आदि नष्ट करने के बाद इस सड़क ने अब शहर की हवाई पट्टी को भी अपनी जद में ले लिया है. सड़क किनारे ड्रेन निर्माण की वजह से हवाईपट्टी की दीवार की नींव कमजोर हो रही है. बारिश के कारण नींव धंस रही है. समय रहते भराई नहीं हुई तो दीवार कभी भी ढह सकती है.

 20 किलोमीटर सड़क का हो रहा निर्माण

स्टेट हाइवे ओथरिटी ऑफ़ झारखण्ड द्वारा कांको मठ से गोल बिल्डिंग तक 20 किलोमीटर आठ लेन सड़क बन रही है. जमीन की कमी के कारण मेमको मोड़ से बिरसा मुंडा पार्क तक सिक्स लेन सड़क बन रही है. लेकिन ड्रेन निर्माण के लिए खोदा गया गड्ढा दीवार से इतना सटा हुआ है कि धीरे-धीरे हवाईपट्टी की दीवार की नींव भी दिखने लगी है. मिट्टी भी गिर रही है.

  कार्यक्रम स्थल बन गया है हवाई पट्टी का मैदान

धनबाद के बरवाअड्डा में एक मात्र हवाई पट्टी आपात कालीन हवाई सेवा के लिये बनाई गई थी. इस हवाई पट्टी का इस्तेमाल सिर्फ वीआईपी लोगों के लिये होता है. वैसे अब यह हवाईपट्टी कार्यक्रम स्थल भी बन गया है. प्रधानमंत्री तक अपने चुनावी दौरे में इस हवाईपट्टी पर उतरते रहे है.

   आठ लेन एरिया में तेजी से बढ़ी आबादी

सड़क निर्माण के साथ ही इस मार्ग में तेजी से आबादी का विस्तार हुआ है. हवाई पट्टी की बगल में खाली पड़ी जमीन को घेरने की होड़ मच गई है. परंतु जिला प्रशासन ने इसे खाली करने का कभी प्रयास नहीं किया. अब दीवार से सटकर दुकान और मकान बनने लगे हैं. हवाईअड्डा इलाके में इतने करीब निर्माण होने से खतरा बढ़ गया है.

एमके वर्मा: हवाईपट्टी को नहीं होगा नुकसान

साज के प्रोजेक्ट इंचार्ज एमके वर्मा कहते हैं कि सड़क या ड्रेन निर्माण के कारण हवाईपट्टी का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा. निर्माण कार्यो की लगातार मॉनिटरिंग की जाती है, गड़बड़ी मिलने पर सुधार भी कराया जाता है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *