फुटपाथ दुकानदारों ने डीसी ऑफ‍िस के समक्ष किया प्रदर्शन, कहा – उजाड़ने से पहले हो पुनर्वास की व्‍यवस्‍था

जमशेदपुर। डिमना चौक से लेकर एमजीएम मेडिकल कॉलेज के बीच दुकान लगानेवाले फुटपाथी दुकानदारों ने पुनर्वास की मांग को लेकर उपायुक्त कार्यालय के समक्ष सोमवार को प्रदर्शन क‍िया. दुकानदारों का कहना है क‍ि लगभग 200 दुकानदार चालीस वर्षों से फुटपाथ पर दुकान लगाकर जीवनयापन करते आ रहे हैं. टाटा स्टील और राज्य सरकार के द्वारा अचानक चार दिन पहले दुकानों को हटाने का फरमान जारी कर द‍िया गया. सड़क चौड़ीकरण के कार्य के ल‍िए ठेकेदार के द्वारा गोदाम और अस्थाई कैंप भी बना दिए गए. अब दुकानदार भय के साये में जी रहे हैं. अब उन्‍हें इस बात की च‍िंता सता रही है क‍ि उनके पर‍िवार का भरणा-पोषण कैसे होगा. विकास सिंह के नेतृत्व में दुकानदारों ने उपायुक्त कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर मौजूद मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा.

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भाजपा नेता विकास सिंह ने कहा कि चालीस वर्षों से जो अपनी दुकान चलाकर रोजी-रोटी कमा रहे थे उन्‍हें अचानक उजाड़ द‍िया जायेगा तो कहां जाएंगे. उनके सामने भुखमरी की समस्या उत्‍पन्‍न हो जाएगी. उन्‍होंने कहा क‍ि सड़क चौड़ीकरण का हम सभी स्वागत करते हैं और सड़क चौड़ीकरण में बाधक भी नहीं बनना चाहते हैं. लेकिन हमारी मांग हैं कि जो दुकानदार चालीस वर्षों से एक ही स्थान पर दुकान लगा रहे हैं उन्हें किताब मार्केट, संजय मार्केट, शालिनी मार्केट और अमर मार्केट की तर्ज में स्थाई रूप से कहीं पहले बसाया जाए तब उजाड़ा जाए. उन्‍होंने कहा क‍ि दुकानदारों के ल‍िए स्थायी व्यवस्था नहीं होगी तो आंदोलन लगातार जारी रहेगा.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *