चाल धंसने से अवैध खनन में लगे एक मजदूर की मौत, 4 जख्मी

धनबाद। बुधवार को बीसीसीएल के वरोरा एरिया की बंद पड़ी डेको आउटसोर्सिंग खदान में कोयला निकालने के दौरान चाल धंसने से एक मजदूर की दबकर मौत हो गई. वहीं 4 लोगों के घायल होने की सूचना है. जानकारी के अनुसार घायल लोगों को परिजन आनन-फानन में निकालकर चोरी छुपे कहीं इलाज करा रहे हैं. घटना बुधवार तड़के की है. वहीं मृतक फुलारीटांड़ हटिया शिव मंदिर के निकट का रहनेवाला बताया जा रहा है. हादसे में मौत के बाद कोयला उत्खलनन में लगे अन्यट साथियों ने उसे बाहर निकाला और शव को स्वाजनों को सौंप दिया. उसके शव को मिट्टी देने की तैयारी चल रही है.

रोज की तरह बुधवार को भी तड़के दर्जनों लोग डेको पैच में माइंस के अंदर घुसकर कोयला काटने में लगे हुए थे. इसी बीच अचानक कोयले की गैलरी के बीच ऊपर से कोयला-पत्थर का एक बहुत बड़ा मलबा आ गिरा, जिसकी चपेट में आने से युवक की मौके पर ही दबकर मौत हो गई. वहीं बोरे में कोयला भर रहे तीन-चार अन्य लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए.

हादसे के बाद अवैध ढंग से कोयला खनन में लगे लोग मौके पर ही कोयले की सैकड़ों बोरियां छोड़कर भाग निकले. घटनास्थेल पर अभी भी साइकिल, मजदूरों का नास्ताै, बांस की सीढ़ी समेत अन्य सामान बिखरा पड़ा है. वहीं बीसीसीएल प्रबंधन व पुलिस-प्रशासन के लोग अबतक घटना से बेखबर हैं.

उल्लेखनीय है कि इन दिनों एक बार फिर मधुबन व बरोरा थाना के सीमावर्ती क्षेत्र पर बंद पड़े डेको आउटसोर्सिंग पैच से बड़े पैमाने पर कोयला चोरी शुरू हो चुकी है. बरोरा, मंदरा, गणेशपुर, डुमरा, फुलारीटांड़, नावागढ़, माथाबांध आदि जगहों से बड़ी संख्या में महिला-पुरुष रात के दो बजे से ही पैच में पहुंचकर कोयला काटना शुरू कर देते हैं. बताया जाता है कि बड़े कोयला तस्कर इन दिनों गिरिडीह व टुंडी से भी मजदूरों को बुलाकर कोयले की कटाई करवा रहे हैं, जिसके लिए मजदूरों को प्रत्येक बोरा कोयला के हिसाब से मेहनताना दिया जाता है. बाद में कोयले को एक जगह जमा कर मोटरसाइकिल व साइकिल से एक निश्चित ठिकाने पर पहुंचाया जाता है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *