अंधेरे में रहने को ग्रामीण विवश, ट्रांसफार्मर जलने से जलापूर्ति भी ठप

चाकुलिया। चाकुलिया प्रखंड की माटियाबांधी पंचायत के घाघरा गांव का ट्रांसफार्मर जल जाने से ग्रामीण एक माह से अंधकार में रहने को विवश हैं. बिजली के अभाव में डीप बोरिंग से जलापूर्ति भी नहीं हो रही है और जिसके कारण ग्रामीण झरना का पानी पीने के लिए मजबूर हैं. ग्रामीण राम चन्द्र सिंह, हर गोविंद सिंह, नकुल सिंह और सुरेश सिंह ने बताया कि गांव में 120 परिवार हैं. गांव का ट्रांसफार्मर जल जाने से सभी अंधकार में रहने के लिए विवश हैं. बिजली नहीं होने के कारण बच्चों का पठन-पाठन भी प्रभावित हो रहा है.

जंगली हाथियों से भयभीत रहते हैं ग्रामीण

गांव पहाड़ी पर होने के कारण अक्सर गांव में जंगली हाथियों का आना जाना लगा रहता है. गांव में अंधकार रहने से ग्रामीण हाथी से काफी भयभीत रहते हैं. ग्रामीणों ने कहा कि गांव के ट्रांसफार्मर जलने की सूचना बिजली विभाग के पदाधिकारी और क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों को देकर गांव में नया ट्रांसफॉर्मर उपलब्ध कराने की मांग की है. परंतु अब तक किसी ने भी पहल नहीं की हैं. ट्रांसफार्मर जलने से गांव में लगा डीप बोरिंग भी नहीं चल रहा है. इससे ग्रामीणों के समक्ष पेयजल की घोर समस्या उत्पन्न हो गई है. ग्रामीण इस डीप बोरिंग से पीने के लिए पानी लेते थे.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *