पंजाब के ड्राइवर-खलासी गिरफ्तार , ट्रक से प्रतिबंधित खैर की लकड़ी बरामद

पलामू । जिले के तरहसी थाना क्षेत्र के सेलारी पंचायत के सुखरो टोला के जंगल से वन विभाग ने ट्रक सहित प्रतिबंधित लकड़ी को बरामद किया है. इस सिलसिले में पंजाब के ट्रक ड्राइवर औऱ खलासी को गिरफ्तार किया गया है. उनसे खैर की लकड़ी तस्करी मामले में लोकल कनेक्शन के बारे में पूछताछ की जा रही है. बरामद लकड़ी का बाजार मूल्य करीब 15 लाख रुपये है. खैर की लकड़ी को पहले उत्तर प्रदेश के वाराणसी ले जाने की तैयारी थी, मगर वहां कोई समस्या होती तो लकड़ी को फिर पंजाब ले जाया जाता.

सहायक वन संरक्षक वन प्रमंडल मेदिनीनगर रामसूरत प्रसाद ने रविवार को जानकारी दी कि शनिवार की रात करीब 10 बजे गुप्त सूचना मिली कि सेलारी पंचायत के सुखरो टोला के जंगल से एक ट्रक प्रतिबंधित खैर की लकड़ी लेकर निकलने वाला है. सूचना पर पाटन औऱ मनातू वन क्षेत्र के कर्मियों को एकत्रित कर टीम बनाई गई और देर रात छापामारी अभियान चलाया गया. वन कर्मियों की टीम जब मौके पर पहुंची तो पंजाब का एक ट्रक जंगल में मिला, उसमें प्रतिबंधित खैर की लकड़ी भरी पड़ी थी. ट्रक जंगल में फंस गया था.

मौके से ट्रक के चालक और सह चालक को गिरफ्तार किया गया. साथ ही सारी लकड़ी को जेसीबी लगाकर ट्रक से बाहर निकाला गया और जप्त किया गया. उन्होंने बताया कि बरामद लकड़ी की अनुमानित कीमत 15 लाख रुपए है. प्रतिबंधित खैर की लकड़ी की तस्करी को लेकर छानबीन तेज की गई है. इस तस्करी में लोकल कनेक्शन को खंगाला जा रहा है. बिना लोकल लोगों की संलिप्तता से इस तस्करी कांड को अंजाम नहीं दिया जा सकता. जल्द इसका खुलासा किया जाएगा. गिरफ्तार ट्रक चालक और खलासी से कई स्तरों पर पूछताछ की गई है. उनकी पहचान पंजाब के मोहाली जिले के लैलीचौकी थाना क्षेत्र के डेराबस्सी दपर गांव निवासी हरनेक सिंह और डेराबसी कला के गोलू भाजरा निवासी मंगतराम के रूप में हुई है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *