आरपीएफ की गिरफ्त में जहरखुरानी गिरोह का मनोज मंडल , यात्री को श‍िकार बनाने की कोश‍िश में जुटा था

जमशेदपुर। टाटानगर आरपीएफ की विंग फ्लाइंग टीम टाटा पोस्ट सीआईबी को बड़ी सफलता हाथ लगी है. टीम ने यात्रियों को रेल यात्रा के दौरान नशे का सेवन कराकर उनसे लूटपाट की घटना को अंजाम देनेवाले जहरखुरानी गिरोह के मनोज मंडल को उस समय धर दबोचा जब वह एक यात्री को अपना शिकार बनाने की कोशिश कर रहा था. गौरतलब हो क‍ि 29 अप्रैल और 26 जुलाई को बरौनी एवं लखीसराय स्टेशन में जहरखुरानी का मामला दर्ज हुआ था, जो बाद में टाटानगर पहुंचा. 29 अप्रैल को मनोज मंडल ने शंकर कुमार नाम के एक यात्री से करीबी बढ़ायी और टाटा-छपरा ट्रेन में बिस्कुट में नशे की गोलियां मिलाकर उसे खिला दी. जब शंकर अचेत हो गया तो उसके पास से 25 हजार रुपये नगद, एटीएम कार्ड और मोबाइल लेकर पुरुलिया में उतरकर चलता बना. नशे की हालत में शंकर कुमार को बरौनी स्टेशन उतारा गया और मामला दर्ज किया गया.
फिर 26 जुलाई को मनोज मंडल ने टाटा – छपरा एक्‍सप्रेस में संदीप ठाकुर नाम के शख्स से दोस्ती कर उसे अपने जाल में फंसाया और बिस्कुट में नशीली दवा मिलाकर खिला दी. उसके बाद 12 हज़ार रुपये नगद, तीन एटीएम कार्ड और मोबाइल लेकर फरार हो गया. उसके बाद संदीप ठाकुर के एटीएम कार्ड का इस्‍तेमाल कर 53 हजार रुपये नगद की निकासी की. नशे की हालत में संदीप ठाकुर को लखीसराय में उतार कर मामला दर्ज किया गया. तबसे आरपीएफ सतर्क हो गई और टेक्निकल टीम की मदद से मनोज मंडल की तलाश में जुट गई. बुधवार को मनोज मंडल चंपुआ से काम कर अपने घर जाने के लिए टाटानगर स्टेशन पहुंचे विजय कुमार यादव को शिकार बनाने की कोशिश कर ही रहा था कि फ्लाइंग टीम टाटा पोस्ट सीआईबी ने सीसीटीवी के माध्यम से उसे धर दबोचा.

देवघर का रहनेवाला है मनोज मंडल

आरपीएफ ओसी संजय कुमार तिवारी ने बताया कि मनोज कुमार मंडल देवघर का रहनेवाला है. इसका काम ट्रेन में सफर कर रहे यात्रि‍यों को दोस्‍ती गांठकर खाद्य सामग्री में नशीली दवा मिलाकर खिला देना और लूटपाट की घटना को अंजाम देना. उन्होंने बताया क‍ि इसके पास से 65 नशे की गोलियां, बिस्किट, ब्लेड, दो मोबाइल फोन, 15 सौ रुपए नगद बरामद क‍िये गये हैं. उन्होंने बताया कि प्लेटफार्म नंबर दो में यात्री को अपना शिकार बनाने के दौरान ही टीम ने धर दबोचा. उसने अपने स्वीकारोक्ति बयान में पूर्व में घटी सारी घटनाओं को अंजाम देने की बात कही. बिस्किट में दो गोली मिलाकर यात्रियों से दोस्ती कर उसे अपने जाल में फंसाकर इस तरह की घटनाओं को अंजाम देता था.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *