रिटायर्ड आइएस की पत्नी और बीजेपी नेत्री पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी

रांची। रिटायर्ड आईएएस की पत्नी और भाजपा नेत्री सीमा पात्रा पर अरगोड़ा थाना में आईपीसी की धारा सहित एससी-एसटी के तहत मामला दर्ज किया गया है. सीमा पात्रा के ऊपर आईपीसी की धारा 323/ 325/ 346 और 374 लगाया गया है. वहीं एससी- एसटी एक्ट के तहत धारा 3(1)(a)(b)(h) के तहत मामला दर्ज हुआ है. मामले की जांच के लिये हटिया डीएसपी राजा मित्रा को केस का आईओ बनाया गया है.

क्या है मामला

यह मामला हाल ही में सीमा पात्रा के अशोक नगर स्थित रोड नंबर एक आवास में लंबे समय से बंधक बनाकर रखी गयी एक दिव्यांग युवती सुनीता को पुलिस ने मुक्त कराया था. आरोप है कि सीमा पात्रा के घर बीते आठ साल से घरेलू कामकाज के लिए रखी गयी युवती को लंबे समय से बुरी तरह प्रताड़ित किया जा रहा था. उसे घर से बाहर तक नहीं निकलने दिया जा रहा था।.घर में बंधक बनी दिव्यांग युवती ने किसी प्रकार मोबाइल पर विवेक आनंद बास्के नामक एक सरकारी कर्मचारी को मैसेज भेजकर अपने ऊपर हो रहे अत्याचार के बारे में जानकारी दी थी. उन्हीं की सूचना पर अरगोड़ा थाने में शिकायत दर्ज की गयी थी. सीमा पात्रा पूर्व आईएएस महेश्वर पात्रा की पत्नी हैं.

कड़ी सुरक्षा के बीच रिम्स में चल रहा इलाज

पीड़िता सुनीता को रेस्क्यू कराने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच उसका रिम्स में इलाज किया जा रहा है. पीड़िता सुनीता की सुरक्षा व्यवस्था में दो महिला सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है. मेडिकल फिट होने के बाद पीड़िता सुनीता को कोर्ट में प्रोड्यूस किया जाएगा जिसके बाद 164 का बयान दर्ज किया जाएगा. पीड़िता के 164 के तहत बयान दर्ज करने के बाद रिटायर्ड आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा की मुश्किलें बढ़ सकती है. अरगोड़ा थाना की पुलिस सीमा पात्रा को गिरफ्तार कर सकती है.

पुलिस और जिला प्रशासन की टीम ने पीड़िता को किया था रेस्क्यू

रांची के सबसे अधिक पॉश इलाका कहे जाने वाले इलाका अशोकनगर का यह मामला है. अशोक नगर के रोड नंबर एक में रिटायर्ड आईएएस महेश्वर पात्रा की पत्नी सीमा पात्रा ने घरेलू काम करने वाली महिला को पिछले 8 सालों से बंधक बनाकर रखी हुई थी. इस मामले की जानकारी मिलने के बाद रांची पुलिस और जिला प्रशासन की टीम ने महिला को रेस्क्यू किया था. आपको बता दें कि अरोगोड़ा थाना क्षेत्र स्थित पॉश इलाके अशोक नगर के रोड नंबर 1 में रिटायर्ड आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा के खिलाफ शिकायत मिली थी कि उनके घर में एक दिव्यांग युवती है, जिसकी उम्र करीब 29 वर्ष के आसपास है. वो रिटायर्ड आईएएस के घर में घरेलू कामकाज के लिए रहती है. उसके साथ मारपीट की घटना भी होती है और उसे घर से निकलने की इजाजत भी नहीं है। अगर वो बाहर जाने का जरा सा भी प्रयास करती है तो उसे बुरी तरह मारा पीटा जाता है और जबरन उससे घर के काम काज कराये जाते हैं. मामला संज्ञान में आने के बाद अरगोड़ा पुलिस और जिला प्रशासन की टीम ने अशोक नगर रोड नंबर 1 में पहुंची और रिटायर्ड आईएएस के घर पर कार्रवाई करते हुए युवती सुनीता का रेस्क्यू किया. सुनीता गुमला जिले की रहने वाली है और लंबे समय से रिटायर्ड आईएएस के घर पर कैद थी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *