अंकिता की मौत से आक्रोश उफान पर, न्याय मांगने सड़क पर उतरे लोग

रांची। झारखंड की उपराजधानी दुमका की बेटी अंकिता की मौत के सूचना मिलने के बाद स्थानीय लोग सड़क पर उतर आए है. घटना के विरोध में भारी संख्या में महिला पुरुष सड़क पर उतरे थे. बाजार स्वतः बंद है. विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग अंकिता के हत्यारे के लिए फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं. वहीं किसी अनहोनी से निपटने के लिये शहर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. विरोध प्रदर्शन में शामिल लोगों को पुलिस समझाने बुझाने के प्रयास में जुटी है. हालांकि कई बार पुलिस लोगों की बहस भी हुई.

नगर थाना क्षेत्र की जरूवाडीह निवासी अंकिता कुमारी का रांची स्थित रिम्स में शनिवार देर रात मौत हो गई. बीते मंगलवार को इंटर की छात्रा अंकिता को आरोपी शाहरुख हुसैन ने इसलिए आग के हवाले कर दिया क्योंकि पीड़ित छात्रा ने उससे दोस्ती करने से इनकार कर दिया था. आरोपी पड़ोस का ही रहने वाला है. आरोपी घर से निकलने पर पीड़िता को तंग किया करता था. पीड़िता को आरोपी कई दिनों से परेशान कर रहा था, आरोपी शाहरुख हुसैन पीड़िता के सहेली से मोबाइल नंबर जुगाड़ कर लगातार फोन कर दोस्ती करने का दबाब देता था. लेकिन पीड़ित नाबालिग ने दोस्ती करने से इंकार कर दिया. इसके बाद सोमवार को जान से मारने की धमकी दी थी. मंगलवार को जब छात्रा अपने घर में सोई हुई थी, इसी दौरान अहले शाहरुख उसके घर पहुंचा और खिड़की से उस पर पेट्रोल डाल माचिस मार जला कर उसे आग के हवाले कर दिया. आनन फानन में उसे दुमका स्थित हॉस्पीटल ले जाया गया. जहां से बेहतर इलाज के लिये रिम्स रेफर कर दिया. वही टाउन थाना पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

22 दिन पहले आरोपी ने पीड़िता के घर पर किया था पत्थरबाजी

दुमका जिले के टाउन थाना में सनकी आशिक द्वारा बीते मंगलवार को पेट्रोल डालकर जिंदा जलायी गयी अंकिता को बेहतर इलाज के लिये रांची स्थित रिम्स के बर्न वार्ड में भर्ती कराया गया. जहां उसका इलाज चल रहा है. घटना के बाद दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज हॉस्पीटल में भर्ती किया गया था. जहां से रिम्स रेफर किया गया था. अंकित के साथ आये परिजन अविनाश ने बताया था कि करीब 22 दिन पूर्व आरोपी द्वारा अंकित के घर पर पत्थरबाजी की गयी थी, इसमें खिड़की के शीशे टूट गये थे. मामले की जानकारी आरोपी के परिजनों को भी दी गयी थी. इसके बाद भी लगातार तंग किया जा रहा था. घटना से दो दिन पूर्व अंकिता ने फोन पर आरोपी द्वारा तंग किये जाने की जानकारी दी थी. अंकिता दो बहन और एक भाई है, बहन बड़ी है, जबकि भाई छोटा है. पिता मार्केटिंग का काम करते है. जबकि अंकिता की मां करीब डेढ़ वर्ष पहले गुजर गयी थी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *