आदिवासी नौकरानी को प्रताड़ित करने वाली पूर्व भाजपा नेत्री सीमा पात्रा गिरफ्तार

झारखण्ड उजाला, रांची । घरेलू नौकरानी को प्रताड़ित व बंधक बनाने की आरोपी सीमा पात्रा को रांची की अरगोड़ा पुलिस ने आज (31 अगस्त) को गिरफ्तार कर लिया है. अशोक नगर स्थित आवास से गिरफ्तार कर पुलिस उसे थाने ला रही है. रिटायर्ड आइएएस अधिकारी माहेश्वरी पात्रा की पत्नी सीमा पात्रा पर नौकरानी सुनीता खाखा को प्रताड़ित करने व बंधक बनाने का आरोप है. सुनीता फिलहाल रिम्स में उपचाराधीन है.हटिया डीएसपी राजा कुमार मित्रा के नेतृत्व में अरगोड़ा थाना पुलिस ने बुधवार की सुबह सीमा पात्रा को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है. भाजपा नेत्री सीमा पात्रा के ऊपर आईपीसी की धारा 323/ 325/ 346 और 374 लगाया गया है. सीमा पर एससी- एसटी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज हुआ है. मामले की जांच के लिये हटिया डीएसपी राजा मित्रा को केस का आईओ बनाया गया था. मामला सामने के बाद भाजपा ने सीमा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है.

रात में भी लौटी थी बाहर से

बताया जाता है कि आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा किसी खास उद्देश्य के लिए रांची से बाहर गई थी. कल देर रात करीब 11:00 बजे अपने आवास अशोक नगर लौटी थी. पुलिस को रात में ही वापस आने की सूचना मिल गई थी. जिसके आधार पर आज सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया गया. सुबह करीब 7:00 बजे सीमा पात्रा की गिरफ्तारी हुई है. इस मामले को न्यूजविंग ने प्रमुखता से दिखाया था और बताया था कि कैसे आईएस की पत्नी सीमा पात्रा आदिवासी लड़की सुनीता खाखा से अमानवीय व्यवहार करती थी. न्यूजविंग ने आईएएस की पत्नी सीमा पात्रा के खिलाफ मुहिम जारी रखी और पुलिस, ब्यूरोक्रेट्स तथा राजनेता इस मामले को लेकर आईएस की पत्नी सीमा पात्रा को गिरफ्तारी की मांग करने लगे थे.

गर्म तवे से दागने व जीभ से पेशाब साफ करवाने का आरोप

पीड़ित नौकरानी सुनीता ने आरोप लगाया है कि सीमा पात्रा ने उसे लंबे समय तक बंधक बनाकर रखा. उसे गर्म तवे से दागा गया. रॉड से सुनीता के दांत तक तोड़ दिए गए. इतना ही नहीं सुनीता से जीभ से पेशाब साफ करवाने का भी आरोप लगाया है. जब पुलिस ने सुनीता को रेस्क्यू कराया तो वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. फिलहाल सुनीता को रेस्क्यू कराने के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच उसका रिम्स में इलाज किया जा रहा है. पीड़िता सुनीता की सुरक्षा व्यवस्था में दो महिला सुरक्षाकर्मियों को लगाया गया है. मेडिकल फिट होने के बाद पीड़िता सुनीता को कोर्ट में प्रोड्यूस किया जाएगा.

राज्यपाल ने डीजीपी से पूछा था-क्यों नहीं हुई कार्रवाई

राज्यपाल रमेश बैस ने सेवानिवृत्त भाप्रसे के पधाधिकारी की पत्नी सीमा पात्रा द्वारा घर में काम करनेवाली युवती सुनीता के साथ अत्यंत अमानवीय तरीके से प्रताड़ित किए जाने के मामले को गंभीरता से लिया है. उन्होंने इस मामले में अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक से पूछा है कि अब तक पुलिस द्वारा दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई. राज्यपाल ने पुलिस की शिथिलता पर भी अपनी गंभीर चिंता प्रकट की है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *