48.11 करोड़ की लागत से गोविंदपुर में बनेगा अन्तर्राज्जीय बस टर्मिनल

धनबाद। धनबाद में 48.11 करोड़ की लागत से अन्तर्राज्जीय बस पड़ाव व वाणिज्यक सुविधाओं का विकास किया जायेगा. नगर विकास विभाग ने इस आशय का प्रस्ताव तैयार किया है. इसके लिए जमीन भी चिह्नित कर ली गई है. प्रस्तावित स्थल गोविंदपुर प्रखंड के अंतर्गत पाडुकी गांव में जीटी रोड के किनारे अवस्थित है. योजना स्थल का क्षेत्रफल 12.56 एकड़ है,जिनमें 10.46 एकड़ भूमि पर निजी भागीदारी द्वारा मिनिमम डेवलपमेंट ऑब्लीगेशन के तहत बस टर्मिनल का विकास किया जायेगा.

2.1 एकड़ भूमि में वाणिज्यक सुविधा होगी. 60 वर्ष के लिए जमीन लीज पर दी जायेगी. निविदा की दर तय करते हुए इससे संबंधी प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की स्वीकृति मिली हुई है,जल्द ही कैबिनेट की मंजूरी लेने की तैयारी की जा रही है. लोक निजी भागीदारी प्रणाली के तहत इसे विकसित किया जायेगा. धनबाद आइएसबीटी के विकास के लिए मेसर्स आइडेक लि. के द्वारा प्रारूप विस्तृत परियोजना प्रतिवेदन तैयार कराया गया है. तकनीकी विकास और टर्मिनल भवन निर्माण में करीब 18.51 करोड़ रुपये की लागत आयेगी. इसके अलावा सिविल वर्क, एक्सटर्नल साइड डेवलपमेंट इत्यादि का काम भी किया जायेगा.

पीपीपी पॉलिसी के आधार पर एमडीओ लागत पर मिनिमम रिजर्व प्राइस अर्थात 1.52 टाइम्स के सर्किल रेट ऑफ कर्मिशिलय लैंड पर शून्य है. इस परियोजना के तहत निजी भागीदार द्वारा बस टर्मिनल बनाकर, झारखंड सरकार को हैंडओवर किया जायेगा. इसके बदले में निजी भागीदारी को वाणिज्यक सुविधा के लिए जमीन लीज दी जाएगी. जिससे सरकार की आय में बढ़ोतरी होगी. अधिकारियों के अनुसार प्रशासनिक स्वीकृति राशि के लिए सरकार को कोई अतिरिक्त वित्तीय बोझ नहीं पड़ेगा. जुडको इस काम के लिए निविदा जारी कर एजेंसियों का चयन करके काम करायेगा. नगर विकास विभाग आइएसबीटी के लिए अतिक्रमण मुक्त जमीन उपलब्ध करायेगा. योजना की मंजूरी सहित निजी कंपनियों को अधिकतम एफएआर लीज दी जायेगी.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *