अपराध और उग्रवाद पर नियंत्रण को लेकर टोटो में बनेगा नया थाना

गुमला। नक्सल प्रभावित गुमला जिले के टोटो में नया थाना बनाया जायेगा. टाउन थाना से अलग कर इसे बनाया जायेगा. टोटो के अंतर्गत टोटो, खरका, कोटाम, कतरी, पनसो, बसुवा, फोरी, आंजन पंचायत को शामिल किया जायेगा. ये सभी पंचायत उग्रवाद व आपराधिक घटनाओं से प्रभावित हैं. वहीं टोटो, बसुवा व फोरी पंचायत में अक्सर सांप्रदायिक दंगा फैलने का डर बना रहता है. इसलिए पुलिस विभाग ने टोटो में थाना की स्थापना की योजना बनायी है. इसकी पर प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. थाना की स्थापना से इस क्षेत्र में अपराध व उग्रवाद पर नियंत्रण होगा. गुमला एसपी डॉ. ऐहतेशाम वकारिब ने टोटो थाना बनाने के लिये निरीक्षण किया. थाना के लिये चयनित स्थल मार्ग का सोमवार को निरीक्षण किया, थाना से जोड़ी जाने वाली मुख्य मार्ग का भी निरीक्षण किया.

टाउन थाना का बोझ कम होगा
गुमला प्रखंड के लोगों का चिर प्रतिक्षित टोटो को अलग थाना बनाने की मांग जल्द ही पूरा होने वाला है. दो दशक से पूर्व गुमला के लोगों ने टोटो में अलग थाना बनाने की न केवल मांग शुरु किया था बल्कि इसके लिए आंदोलन भी किया था. लोगों को यह प्रयास अब गुमला के एसपी डा. ऐहतेशाम वकारिब के पहल से सफल होने वाला है. जल्द ही थाना बनाने की कवायद शुरु हो जाएगी. टोटो थाना क्षेत्र का कुल क्षेत्रफल 210.58 स्क्वायर किमी. है. टोटो के थाना बनने से जहां नक्सली और आपराधिक गतिविधियां में कमी आएगी. गो तस्करी, लकड़ी की तस्करी पर लगाम लगेगा. प्रशासनिक दृष्टिकोण से गुमला थाना का बोझ कम होगा. इसका लाभ गुमला थाना को भी मिलेगा. जहां थाना बनेगा तो गैर कानूनी कार्यों पर अंकुश स्वत: लगेगा. विधि व्यवस्था में सुधार होगा. इसका लाभ हर आम व खास को महसूस होगा. जिले के कई ऐसे गांव हैं, जहां अभी भी विकास नहीं हुआ है. जिस कारण पुलिस विभाग को अक्सर नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाने में दिक्कत होती है. गुमला के नक्सल प्रभावित गांवों के विकास पर पुलिस विभाग की नजर है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *