विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने स्थानीय नीति के लिए सीएम को दिया धन्यवाद, कहा- झारखंडियों के हित में सराहनीय कदम

गोड्डा। झारखंड मुक्ति मोर्चा में रहकर हेमंत सोरेन का सबसे मुखर विरोध करने वाले उनकी ही पार्टी के विधायक और पूर्व मंत्री लोबिन हेम्ब्रम भी आखिरकार 1932 का खतियान लागू करने के बाद सीएम के मुरीद हो गए हैं. उन्होंने कहा कि हेमत सोरेन का ये कदम सराहनीय है और हेमंत सोरेन ने गुरुजी शिबू सोरेन व हर झारखंडी के सपनों को साकार किया है।

विधायक लोबिन हेम्ब्रम ने कहा कि वो लगातार इन मुद्दों को लेकर मुखर रहे हैं और शुरू से ही झारखंडी हित में 1932 के खतियान को लागू करने की मांग करते रहे हैं. हेमंत सरकार का यह निर्णय बड़ा और झारखंडियों के हित में है. इस दौरान उनके आवास नुनाजोरे में ढोल नगाड़े के साथ जश्न हुआ. सीएम हेमंत सोरेन और दिशोम गुरु शिबू सोरेन जिंदाबाद के नारे लगे. साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में खुशी की लहर है और जगह जगह लोग खुशी मना रहे हैं.

गौरतलब है कि इससे पूर्व में विधायक लोबिन हेम्ब्रम, सीएम हेमंत सोरेन को खूब खरी खोटी सुनाते रहे हैं. हर बार वे राज्य में 1932 के खतियान आधारित स्थानीयता को लेकर अपने ही सरकार को कठघडे में खड़ा करते रहे हैं. ऐसे में हेमंत सोरेन ने 1932 के खतियान वाली स्थानीय नीति को लेकर और ओबीसी को 27 प्रतिशत का आरक्षण का निर्णय लेकर अपने विरोधियों का मुंह बंद कर दिया है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *