मजदूरों का पलायन रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजन पर फोकस हो-मुख्यमंत्री

रांची। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ग्रामीण विकास विभाग के 6 प्रमुख योजनाओं की समीक्षा की. इसके तहत मनरेगा, मनरेगा के तहत नियुक्ति की प्रक्रिया बिरसा हरित ग्राम योजना, वीर शहीद पोटो हो विकास योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना( ग्रामीण) और बाबा साहब भीमराव अंबेडकर आवास योजनाओं के प्रगति की जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कम बारिश की वजह से इस वर्ष सूखे की स्थिति है. ऐसे में किसानों-मजदूरों का पलायन नहीं हो ,इसका विशेष ख्याल रखें. ज्यादा से ज्यादा रोजगार सृजित किया जाएं और योजनाओं का क्रियान्वयन बड़े पैमाने पर हो. उन्होंने कहा कि योजनाओं की जियो मैपिंग भी कराई जाए. मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाओं का स्थल निरीक्षण भी किया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने दिए ये निर्देश

हर गांव में कम से कम 5 नई योजनाओं को अविलंब शुरू करें.

अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति को मनरेगा कार्यों में प्राथमिकता दें.

मनरेगा में 50% महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करें.

मनरेगा कार्यों में जेसीबी का इस्तेमाल नहीं हो.

फर्जी मस्टर रोल पर अविलंब रोक लगे.

मनरेगा के तहत ससमय कार्य का अवलोकन करें और समय पर मजदूरी का भुगतान सुनिश्चित करें.

ज्यादा से ज्यादा मानव दिवस का सृजन करें ताकि पलायन नहीं हो.

मुख्यमंत्री ने खनन वाले इलाकों में एक करोड़ के तक की योजनाओं का कार्य स्थानीय लोगों को देने की दिए गए निर्देश के आलोक में उठाए गए कदमों की जानकारी ली.

बैठक में ये पदाधिकारी रहे मौजूद

उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का , कार्मिक सचिव श्रीमती वंदना डाडेल और मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे समेत सभी विभागों के प्रधान सचिव/ सचिव तथा सभी जिलों के उपायुक्त उपस्थित है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *