बीएयू में मनाया गया राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस, विजेताओं को किया गया पुरस्कृत

रांची। बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस पर समारोह का आयोजन शनिवार को किया गया. मौके पर अमृत महोत्सव पखवाड़े के तहत विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित 9 स्पर्धा के विजेताओं को मोमेंटो देकर पुरस्कृत किया गया. मौके पर बतौर मुख्य अतिथि कुलपति डॉ ओंकार नाथ सिंह ने कहा कि देश के युवाओं के लिए राष्ट्र सर्वोपरि होना चाहिए. इसके बाद प्रदेश, क्षेत्र, समाज और स्वयं पर ध्यान होना चाहिए. छात्र जीवन में एनएसएस का अपना विशेष महत्व है. यह राष्ट्रन की युवाशक्ति के व्याक्ति त्वन विकास एवं समाज सेवा के गुणों के विकास के लिए छात्र संचालित एक सक्रिय कार्यक्रम हैं.

गतिविधियां काफी बढ़ गयी

कुलपति ने कहा कि बीएयू में विगत दो वर्षो में एनएसएस की गतिविधियां काफी बढ़ गयी है. पहली बार विवि के सभी 10 महाविद्यालयों अमृत महोत्सव का पखवाड़ा सप्ताह का व्यापक आयोजन हुआ. एनएसएस कार्यक्रमों का देश निर्माण में युवाओं की भूमिका को बढ़ाने और उन्हें देश के साथ जोड़ने का महत्वपूर्ण क्षण है. छात्र जीवन में सभी छात्रों को एनएसएस से जुड़कर इसके उद्देश्यों को चरितार्थ करें.

ये रहे स्पर्धा के विजेता

कुलपति ने अमृत महोत्सव पखवाड़े के तहत विश्वविद्यालय स्तर पर आयोजित 9 स्पर्धाओं के विजेताओं को मोमेंटो से पुरस्कृत किया. निबंध में श्वेता कुमारी, वाद-विवाद में विशालाखी चौबे, क्विज में प्रेरणा प्रिया और खुशी रानी, एक्स्टेम्पोर में श्वेता कुमारी, वोकल सोंग (बालक) में अनल बोस, वोकल सोंग (बालिका) में अर्पिता सिन्हा, सोलो डांस में निकिता टोप्पो व अन्वेन्षा निधि, योग में नर्मता बाखला और फोक डांस में मोनिका की टीम को प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया.

समाजसेवा के गुणों का विकास

डीन एग्रीकल्चर डॉ एसके पाल ने एनएसएस को राष्ट्र की युवाशक्ति के व्योक्ति त्वप विकास एवं समाज सेवा के गुणों के विकास के लिए छात्र अवधि में संचालित एक सक्रिय कार्यक्रम बताया. डीन वेटनरी डॉ सुशील प्रसाद ने छात्रों का समाजपयोगी कार्यों से जुड़ाव एवं लगाव से समाज सेवा की भावना और राष्ट्रल सेवा के गुणों के विकास का अवसर कहा.

जानकारी हासिल करने का अवसर

डीन वानिकी मौके पर डीन पीजी डॉ एमके गुप्ता, डीन वानिकी डॉ एमएस मल्लिक, निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ जगरनाथ उरांव एवं कुलसचिव डॉ नरेंद्र कुदादा ने एनएसएस को छात्र-छात्राओं को शिक्षा के साथ-साथ समाज के बारे में जानने व समाज के प्रति जिम्मेदारियों और जानकारी हासिल करने का महत्वपूर्ण अवसर बताया.

वार्षिक उपलब्धियां प्रस्तुत की

मौके पर कृषि, पशुचिकित्सा, वानिकी, कृषि अभियंत्रण एवं उद्यान महाविद्यालयों के एनएसएस कार्यक्रम पदाधिकारियों ने एनएसएस की वार्षिक उपलब्धियां प्रस्तुत की. स्वागत करते हुए में कार्यक्रम समन्यवयक डॉ बीके झा ने बताया कि विगत वर्ष विवि के सभी 10 महाविद्यालयों में एनएसएस यूनिट का गठन एवं संचालन, अमृत महोत्सव पखवाड़े तहत महाविद्यालयों में कुल 9 गतिविधियों का आयोजन, 10 एक हजार नीम पौधों का रोपण, महाविद्यालय परिसर में पौधरोपण, स्वास्थ्य चिकित्सा शिविर, रक्त दान शिविर एवं पशु चिकित्सा शिविर का आयोजन प्रमुख उपलब्धियां रही है.

कार्यक्रम में ये रहे मौजूद

संचालन एवं धन्यवाद कार्यक्रम पदाधिकारी (आरवीसी) डॉ प्रवीण कुमार ने किया. मौके पर डॉ आलोक पांडे, डॉ आरपी मांझी, डॉ जय कुमार, डॉ उत्तम कुमार, डॉ अमित कुमार, डॉ राजू प्रसाद, डॉ रविन्द्र कुमार आदि सहित कृषि, पशुचिकित्सा, वानिकी, कृषि अभियंत्रण एवं उद्यान महाविद्यालयों के छात्र-छात्राएं भी मौजूद थे.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *