जयपुर के आमेर दुर्ग का प्रारूप में बन रहा दुर्गा पूजा पंडाल

देवघर। दुर्गा पूजा को लेकर पूजा पंडाल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. देवघर में दुर्गा पूजा का उत्साह देखा जा रहा है. शहर के श्री कृष्णापुरी सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति की ओर से इस बार जयपुर के आमेर दुर्ग का प्रारूप पंडाल को दिया जा रहा है. इसके साथ ही शहर के विभिन्न इलाकों में भी थीम बेस्ड पंडाल बनाए जाए रहे हैं.

जिला में दुर्गा पूजा की तैयारी अब अंतिम चरण में है. इस वर्ष लोग दुर्गा पूजा को लेकर काफी उत्साहित हैं. दो साल तक कोरोना की वजह से पूजा पाठ समेत ऐसे आयोजन का उत्साह फीका पड़ रहा था. लेकिन इस वर्ष कोरोना नियंत्रण में होने के कारण चारों ओर खुशी का माहौल है. इस वर्ष सरकारी प्रतिबंध नहीं होने के कारण पूजा पर भव्य आयोजन होगा. शहर से सटे क्षेत्रों में भी इस वर्ष दुर्गा पूजा धूमधाम से होगी. शारदीय नवरात्र की शुरुआत 26 सितंबर से हो रही है और 5 अक्टूबर को विजयदशमी मनाई जाएगी.

शहर में श्री कृष्णापूरी पूजा समिति गोशाला दुर्गा पूजा समिति, दुर्गाबाड़ी पूजा समिति समेत कई जगह पर पूजा की तैयारी शुरू हो गई है. शहर के श्रीकृष्णापूरी पूजा समिति अब तक कई बैठक आयोजित कर चुकी है. श्रीकृष्णापुरी सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति का यह 20वां साल है. कृष्णापुरी में समिति द्वारा पूजा वैष्णव पद्धति से पूजा की जाती है. लगातार कई सालों से समिति एक से बढ़कर एक आकर्षक पंडाल का निर्माण करा रही है. यहां मां दुर्गा की भव्य प्रतिमा स्थापित की जाती है. विद्युत सज्जा यहां का विशेष आकर्षण होता है. इस बार जयपुर के आमेर दुर्ग की थीम पर इस साल भव्य पंडाल बनाया जा रहा है.

50 लाख रुपये होंगे खर्च

श्री कृष्णापूरी पूजा समिति की देखरेख में कोलकाता के कुशल कलाकार पंडाल, प्रतिमा, लाइट एवं साज-सज्जा कार्य कराने में लगे हुए हैं. इस वर्ष पूजा का अनुमानित बजट 45 से 50 लाख रखा गया है. पिछले साल ही समिति द्वारा दुर्गापूजा स्थल के अलावे ठीक बगल में 4000 वर्गफीट अतिरिक्त जमीन खरीदी गयी है. पूजा समिति के अध्यक्ष राजेश सिंह की अध्यक्षता में इस वर्ष भी पूजा का भव्य आयोजन हो रहा है. समिति के सभी पदाधिकारी, सदस्य एवं मोहल्लेवासी मिलकर पूजा के आयोजन में लगे हैं. पूजा समिति की ओर से सप्तमी पर पेड़ा, फल का प्रसाद, अष्टमी पर तसमै, नवमी को देसी घी से तैयार हलवा का महाभोग एवं दशमी को तेहरी का वितरण किया जाएगा. समिति ने भक्तों से पूजा पंडाल व आसपास स्वच् ता बनाये रखने में सहयोग करने की अपील की है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *