बरही-कोडरमा फोरलेन में 200.33 करोड़ बंटा मुआवजा, अब भी 57.38 करोड़ पेंडिंग

रांची। बरही-कोडरमा फोरलेनिंग के लिए रैयतों से ली गयी जमीन के बदले उन्हें अब तक पूरा मुआवजा नहीं मिला है. इस वजह से काम लटक रहा है. नेशनल हाइवे-31 में किमी 00.000 से किमी 27.700 तक फोरलेन रोड किया जा रहा है, इसमें काफी हद तक काम भी हो गया है. नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 257.71 करोड़ रुपये मुआवजा के जनवरी 2019 से सितंबर 2020, नवंबर 21 से अगस्त 2022 के बीच आवंटित किया है, जिसमें से अब तक 200.33 करोड़ रुपये की राशि वितरित की गया है और 57.38 करोड़ रुपये का वितरण पेडिंग है.

इसके अलावा तिलैया बाइपास के मुख्य रास्ता में भी 0.500 किमी तक सड़क निर्माण में जमीन की बाधा रही है, इसके अलावा 4.5 किमी लंबा सर्विस रोड निर्माण के लिए भी अब तक जमीन उपलब्ध नहीं हो पाया है. वहीं, डीवीसी एरिया, उरवन विलेज में करीब 0.150 किमी लंबा एरिया में अभी बाधा है. एनएचएआई और प्रशासन इसे क्लीयर नहीं करा पाया है. सारी स्थिति की समीक्षा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी की है और अविलंब अधिकारियों को बरही-कोडरमा फोरलेनिंग का काम पूर्ण करने का आदेश दिया है.

Share this...
Share on Facebook
Facebook
Tweet about this on Twitter
Twitter

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *